Published On : Wed, Sep 18th, 2019

कोराडी मार्ग के एनएचएआई अंडर ब्रिज से आवाजाही बंद

रात भर वर्षा से तालाब का रूप ले लिया परिसर, गुजरने की कोशिश करने वालों की वाहन बंद पड़ रही,फंस रही।

नागपुर – वर्तमान सरकार अर्थात सत्ताधारी पक्ष कार्यकर्ताओं को खुश करने के लिए अनमने ढंग से कोराडी मार्ग पर रेलवे पटरी के नीचे अंडर ब्रिज का निर्माण किया गया,जो आये दिन आवाजाही करने वालों के लिए परेशानी का शबब बन चुकी हैं। आज तो पूर्णतः आवाजाही बंद हैं, जो खतरा लेकर पार करने की कोशिश कर रहे,वे या तो फंस जा रहे,या फिर उनकी गाड़ियां बंद पड़ रही। लेकिन निर्माता एचएआई प्रबंधन के कानों पर जूं नहीं रेंग रहा।

पागलखाना से सावनेर तक एनएचएआई के देखरेख में ओरिएंटल कंपनी ने फोरलेन मार्ग का निर्माण किया। इसी क्रम में रेलवे क्रासिंग पर उड़ान पुल का निर्माण किया। इसी दौरान झिंगाबाई टाकली मोड़ से वॉक्स कूलर फैक्ट्री तक रेलवे क्रासिंग पर भी उड़ान पुलिया बनाई गई। अब ओम नगर और आसपास के सत्ताधारी कार्यकर्ताओं की मांग,अनशन पर आवाजाही के लिए मंत्री ने एनएचएआई के द्वारा ओरिएंटल से अंडर ब्रिज निर्माण करवा दी।

निर्माण करते वक़्त तकनीकी खामियां काफी छोड़ दी। इस अंडर ब्रिज का बीच का हिस्सा दोनों तरफ से ढलान में कर दिया गया। दोनों ओर का पानी बीच में गहरा तालाब का रूप ले लेता हैं, इस सम्पूर्ण हिस्से में 100 से अधिक छिद्र कर आसपास के पानी की निकासी की जा रही,जो ब्रिज परिसर में जमा हो रही। जमा पानी और निकासी द्वार से आने वाली नाले की ‘बैक वॉटर’ काफी गंदगी से लबरेज होता हैं।

वर्ष भर यह अंडर ब्रिज गीला गीला रहता और आवाजाही करने वालों को नाना प्रकार की अड़चने देते रहता हैं। इतना ही नहीं अत्यधिक पानी जब कभी जमा हो जाती हैं, तब तब अंडर ब्रिज से पानी पूर्णतः निकासी होने तक आवाजाही प्रभावित होती हैं। कल देर रात से आवाजाही प्रभावित हैं, जो आवेश में आकर पार करने की हिम्मत दिखा रहा या तो उसकी गाड़ी बंद पड़ रही या फिर पानी की ऊंचाई में फंस जा रही,नतीजा किसी न किसी की सहायता से धक्का मार कर वाहन निकाले जा रहे।

क्या एनएचएआई प्रशासन और संबंधित मंत्री इस ओर गंभीरता से दखल लेंगे। या फिर किसी दुर्घटना की राह तक रहे।