Published On : Mon, Sep 17th, 2018

कांग्रेस ने आजादी की लड़ाई में निभाई अहम भूमिका, दिए कई महापुरुष: भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने ‘भविष्य का भारत’ कार्यक्रम में भाषण देते हुए कई बातें कहीं। दिल्ली के विज्ञान भवन में इस तीन दिवसीय कार्यक्रम का सोमवार को दूसरा दिन था।

इस कार्यक्रम में बॉलीवुड के कई बड़े अभिनेताओं सहित अलग-अलग क्षेत्रों की हस्तियां मौजूद रहीं। इस दौरान आरएसएस प्रमुख ने कहा कि हिंदू समाज को एकजुट करने के लिए आरएसएस का गठन हुआ। आरएसएस के हिंदुत्व का मतलब किसी का विरोध करना नहीं है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता की निष्ठा पर बोलते हुए कहा कि वो बिना प्रचार दिन-रात काम करते हैं।

इस दौरान मोहन भागवत ने हेडगेवार को याद करते हुए कहा कि वे कांग्रेस के सदस्य थे और विदर्भ क्षेत्र के बड़े नेता थे। उन्होंने असहयोग आंदोलन में भी भाग लिया था। मोहन भागवत ने कहा कि संघ के कार्यकर्ता बिना थके समाज के लिए काम करते हैं। इतने सालों के बाद भी आरएसएस को गलत समझा जाता है।


इसी दौरान भागवत ने ये भी कहा कि कांग्रेस ने आजादी के आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाई और भारत को कई महान लोग दिए। मोहन भागवत ने कहा कि आरएसएस एक ताकत के रूप में उभरा है और यह प्रचार का भूखा नहीं है। दुनिया का कोई भी संगठन इसके मूल्यों की बराबरी नहीं कर सकता।
दिल्ली के विज्ञान भवन में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आरएसएस प्रमुख ने कहा कि ऐसे नेता कि जरूरत है जो सामाजिक बदलाव ला सकें। उन्होंने कहा कि आपको हर रोज देश के लिए मरने की जरूरत नहीं है बल्कि जीना चाहिए।

उन्होंने एपीजे अब्दुल कलाम को याद करते हुए कहा कि उन्होंने अरुणाचल प्रदेश में कहा था कि हमें हमारे देश में विश्वास रखना होगा। मोहन भागवत ने कहा कि आरएसएस लोगों की भलाई के लिए काम कर रहा है लेकिन फिर भी कुछ लोग लगातार संघ को निशाना बनाते हैं।