Published On : Tue, Nov 21st, 2017

महीनों से बंद पड़ी है बाल उद्यान की मिनी ट्रॉय ट्रेन वनबाला

Toy Train in Nagpur Balodyan
नागपुर: सिविल लाइन स्थित बाल उद्यान में बच्चों को सैर कराने वाली वनबाला पिछले तीन महीनों से बंद पड़ी है. लेकिन वनविभाग की लापरवाही और लचर कार्यप्रणाली के चलते अब तक वनबाला पटरियों पर नही दौड़ पा रही है. जिसके कारण रोजाना नागपुर शहर के कोने कोने से अपने परिजनों के साथ आनेवाले बच्चे वनबाला के नहीं चलने की वजह से निराश होकर लौट रहे हैं.

पिछले तीन दशकों से वनबाला बाल उद्यान की शान बनी हुई है. इससे वनविभाग की भी आर्थिक आय होती है. सूत्रों से मिली जानकारी से पता चला है कि तकनीकी और ट्रैक मरम्मत करने के कारण ही वनबाला के पहिए थमे हुए हैं. वनबाला रोजाना चलती है और हर बार इस छोटी ट्रॉय ट्रेन में बड़ी तादाद में बच्चे और उनके माता पिता जंगल सफारी का लुत्फ उठाते हैं. जिसके कारण यह भी नहीं माना जा सकता कि वनबाला आर्थिक नुकसान या घाटे को लेकर बंद कर दी गई है. पिछले महीने दिवाली की छुट्टियां थीं, बच्चों को स्कूल में छुट्टियां होने के कारण रोजाना यहां बच्चों की भीड़ बड़े पैमाने पर दिखाई दी. लेकिन वनबाला की राह देखते देखते आखिर बच्चों को भी निराश मन लौटने देखा गया.

ऐसा नही है कि वनबाला पहली बार खराब हुई है. इससे पहले भी वनबाला कई बार खराब हो चुकी है. पहले भी छोटे छोटे कारणों पर अधिक दिनों तक ध्यान ना देने से लंबे समय तक उसे गैराज में रखा जा चुका है। इस बार भी वही कहानी दोहराई जा रही है। तीन महीने बीतने पर भी वनबाला पटरियों पर नही लौटी है. जबकि वनविभाग से संबंधित सभी वरिष्ठ अधिकारीयों का नागपुर में ही बसेरा है. इससे यह कहना गलत नहीं होगा कि वनबाला को लेकर वनविभाग ने हमेशा से ही लापरवाही का रवैया अपनाया है.