Published On : Sat, Jan 28th, 2017

मा गो वैद्य शिवसेना पर उखड़े

Advertisement

MG Vaidya
नागपुर
: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रवक्ता मा गो वैद्य शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के उस वक्तव्य से खफा हैं, जिसमें श्री ठाकरे ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी से युति बेमानी है। मा गो वैद्य ने उद्धव ठाकरे से पूछा है कि उन्हें भाजपा-शिवसेना की युति का बेमानी होना क्या सत्ता में पहुँचने के बाद याद आया है? उन्होंने 25 साल की युति न तोड़ने की गुजारिश भाजपा और शिवसेना के पदाधिकारियों से से की है तथा फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह करते हुए कहा है कि इन दोनों दलों के अलग-अलग चुनाव लड़ने का फायदा कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस को मिल जाएगा।

राज्य की सरकार अस्थिर होगी
मा गो वैद्य ने कहा कि यदि भाजपा-सेना की युति टूटी और शिवसेना ने सरकार से समर्थन वापस लेने का मन बनाया तो महाराष्ट्र की देवेन्द्र फड़णवीस सरकार अस्थिर होगी। हालाँकि श्री वैद्य इस उम्मीद में दिखे कि हो सकता है राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के समर्थन से सरकार सत्ता में बनी रह जाए, लेकिन इससे स्थानीय निकाय के चुनावों पर भी खास फर्क पड़ेगा।

क्या मध्यावधि चुनाव होंगे?
मा गो वैद्य ने कहा कि यदि शिवसेना के समर्थन वापसी के बाद राकांपा राज्य की भाजपा सरकार को समर्थन की पेशकश करती है तो भाजपा नेतृत्व उनकी पेशकश पर क्या प्रतिक्रिया देती है, इस पर मध्यावधि चुनाव की स्थिति निर्भर करेगी। उन्होंने इस बात पर चिंता भी जाहिर की कि युति तोड़ने की घोषणा के बाद से दोनों ही दल एक-दूसरे पर कीचड़ उड़ाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें शिवसेना द्वारा इस मामले में लिए जाने वाले फैसले का इंतजार है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement