Published On : Sat, Jan 20th, 2018

आरटीई की निधि के लिए शिक्षणाधिकारी से मिले मिस्टा के सदस्य

RTE, Nagpur
नागपुर: आरटीई के अन्तर्गत इस वर्ष प्रवेश देने के लिए इंग्लिश स्कूल इंकार कर रहे हैं. शिक्षा मंत्रालय की ओर से बकाया नहीं दिए जाने की वजह से आखिरकार स्कूलों ने यह निर्णय लिया है. इसी मांग के मद्देनजर आरटीई के तहत एडमिशन की निधि के लिए महाराष्ट्र इंग्लिश स्कूल ट्रस्टीज एसोसिएशन (मिस्टा) की ओर से जिला परिषद के शिक्षणाधिकारी दीपेंद्र लोखंडे को एसोसिएशन के सदस्यों और शिक्षकों ने निवेदन दिया.

नागपुर जिले के 2012 से लेकर वर्ष 2017 तक की 45 करोड़ 52 लाख रुपए इंग्लिश मीडियम स्कूलों को नहीं दिए गए हैं. निधि नहीं मिलने की वजह से स्कूलों की आर्थिक हालत काफी खराब हो चुकी है. साथ ही इसके अन्य मांगों में आरटीई जिला शिकायत निवारण समिति स्थापित कर संगठन के प्रतिनिधियों को प्रतिनधितत्व करने का मौका देने की मांग का समावेश है. आरटीई प्रक्रिया के तहत रिक्त जगह रहने पर या बीच में से ही विद्यार्थियों के स्कूल छोड़ने पर उन जगहों को भरने की अनुमति स्कूलों को प्रशासन की ओर से दी जाए. इस दौरान जिला कार्याध्यक्ष मो. आबिद, जिला सचिव कपिल उमाले व जिला उपाध्यक्ष नरेश भोयर मौजूद थे.