Published On : Sat, Jun 17th, 2017

जर्मन जापान गैंग के 7 सदस्यों पर लगा मकोका; 5 गिरफ्तार, 2 फरार


नागपुर:
जर्मन जापान गैंग के सात सदस्यों पर झंगाबाई टाकली स्थित स्कूल पर कब्जा जमाने के आरोपों समेत अन्य अपराधिक मामलों में लिप्तता को लेकर कार्रवाई की गई है। एसआईटी द्वारा मकोका की यह दूसरी कार्रवाई है। आरोपिरयों में से पांच गिरफ्तार हैं जबकि 2 फरार हैं जिनकी खोजबीन की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 20 मई 2017 को झिंगाबाई टाकली स्थित रसूल प्राथमिक शाला पर कब्जा जमाने और कब्जा लौटाने के िलए 50 लाख रुपए की फिरौती जर्मन जापान गैंग के सदस्यों ने मांगी थी। इसकी शिकायत 62 वर्षिय सुमसुननिशा मो. इस्माइल पठान ने गिट्टिखदान पुलिस थाने में की थी। अपराधियों के पूर्व रिकॉर्डों को देखते हुए उन पर मकोका लगाने का निर्णय लिया गया। दरअसल शिसकायतकर्ता के पति मो. इस्माइल पठान ने 1885 से 1987 के दरम्यान झिंगाबाई टाकली स्थित 6.5 एकड़ जमीन कुसुमबाई जुनघरे व शैलजा वानखेड़े से खरीदी थी। इस जमीन के प्लॉट नंबर 81 व 101 में 8 कमरों की स्कूल बनाई थी। 2012 में मो. इस्माइल की मौत के बाद जब उनकी पत्नी अपनी बेटी के साथ जब स्कूल पहुंची तो स्कूल पर जर्मन जापान गैंग के सदस्यों का कब्जा पाया।

आरोपियों ने पठान द्वय को परिसर में प्रवेश करने से रोका और उनसे मारपीट की। जिसकी शिकायत जब थाने पहुंची तो गिरफ्तारियों का सिलसिला शुरू हुआ। पुलिस ने गैंग के जाफर नगर निवासी रशीद खान जरदार खान(65), अजहर खान रशीद खान (31), अमजद खान रशीद खान(33), वसीम उर्फ शेरा रशीद खान (24), राजा खान रशीद खान(35) व स्वागत नगर निवासी जावेद अंसारी अब्दुल वहाब अंसारी(48) और सुगत नगर निवासी परवेज खान जर्मन खान (38) के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई की है। इसमें से रशीद खान जरदार खान व परवेज खान जर्मन खान फरार बताए जा रहे हैं। आरोपियों पर यह कार्रवाई विभिन्न अपराधिक धाराओं समेत महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून 1999 की कलम 3 के अनुसार कार्रवाई की गई है।