Published On : Tue, May 4th, 2021

मेयो,मेडीकल के ईंटर्न डॉक्टरों का आंदोलन, महाराष्ट्र के 3 हजार डॉक्टर भी रहे शामिल

नागपुर– मंगलवार 4 मई को महाराष्ट्र के 3000 ईंटर्न डॉक्टरों की ओर से अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया. नागपुर शहर के मेडीकल और मेयो हॉस्पिटल के डॉक्टर भी इसमें शामिल रहे. इनका कहना है कि जब तक इनकी मांगे नही मानी जाएगी, तब तक यह कोविड ड्यूटी पर जॉइन नही होंगे. यह सभी 2016 के बैच के ईंटर्न डॉक्टर है.

इन्होंने मांग की है कि मुंबई और पुणे के ईंटर्न को पिछले वर्ष जैसे 50,000 हजार रुपये मानधन मंजूर किया जाए.

इन्हें 300 रुपए प्रति दिन के हिसाब से खाना, ट्रेवल अलाउंस और प्रोत्साहन भत्ता दिया जाए.

कोविड ड्यूटी के बाद क्वारणटाईन की व्यवस्था की जाए. इस दौरान बीमार पड़ने पर इलाज की जिम्मेदारी शासन उठाए. सरकार की ओर से बीमा की सुरक्षा दी जाए.

ईंटर्न डॉक्टरों का कहना है कि नर्सेज विद्यार्थियों को सरकार 1000 रुपए रोजाना भत्ता देती है, लेकिन महाराष्ट्र के ईंटर्न डॉक्टरों को किसी भी तरह का कोई भत्ता नही दिया जाता है, बहोत ही कम स्टायफण्ड में उन्हें काम करना पड़ता है.

इनका कहना है की पिछले वर्ष डीन ,मनपा आयुक्त और जिलाधिकारी को निवेदन दिया गया था , लेकिन किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नही की गई. डॉक्टरों ने एक बार फिर डीन को अपनी मांगों का निवेदन दिया है. इनका कहना है कि जब तक लिखित आश्वासन नही मिलता ,तब तक यह आंदोलन पीछे नही लेंगे.