Published On : Sat, May 30th, 2015

मौदा : ग्रामस्थों का बिडिओ कार्यालय पर हल्लाबोल


कार्यालय में की तोड़फोड़

विस्तार अधिकारी से धक्का-मुक्की
तोड़फाड़ और मारपीट के विरोध में काम बंद का इशारा

Todfod
मौदा (नागपुर)। धानला ग्रापं के बारबार शिकायत के बाद भी किसी भी प्रकार की कार्रवाई नही होने से धानला के ग्रामस्थों ने खंडविकास अधिकारी मौदा के कार्यालय पर हल्ला बोल दिया. बातों से बात नही बनने से घुसाएं नागरिकोंने कार्यालय के टेबल खुर्सियां और अन्य सामानों की तोड़फोड की. बिडिओ आदमने और विस्तार अधिकारी सुनील पाटिल को धक्का-मुक्की और मारपीट की. घटना शुक्रवार शाम 5 बजे की है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को धानला गांव में आमसभा थी. लेकिन ग्रामसेवक आमसभा में उपस्थित नही थे. धानला ग्रामसचिव दर्शना गायकवाड हमेशा ग्रामसभा में अनुपस्थित रहती है. जिससे बिडिओ की जगह एखाद प्रशासकीय अधिकारी ग्रामसभा में भेजे और प्रोसेंडिंग दे. लेकिन 3 बजे तक कोई भी अधिकारी और प्रतिनिधि नही आया. इसके संदर्भ में पूछने जाने पर पूर्व जि.प. उपाध्यक्ष तापेश्वर वैद्य, सरपंच अशोक पत्रे, अजय हारोडे और सैकड़ों ग्रामस्थों ने पं.स. पर हमला किया. बिडिओ मौदा ने हमेशा शिकायत करके भी शिकायत नही समझी और टालमटोल कर जवाब दिए. इससे घुसाएं ग्रामस्थों ने कार्यालय की तोड़फोड़ की तथा खंड विकास अधिकारी सि.व्ही. आदमने और विस्तार अधिकारी सुनील पाटिल को धक्कामुक्की और मारपीट की.

Advertisement

इस संर्दभ मे खंड विकास अधिकारी आदमने को पूछने जाने पर उन्होंने कहा कि, मै कक्ष में होते हुए धानला के सरपंच अशोक पत्रे, तापेश्वर वैद्य, अजय हरोडे ने अन्य 25 से 30 नागरिकों समेत कक्ष में प्रवेश किया और उक्त कारण बताकर विवाद शुरू किया. हमने समझाने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने गालीगलौच शुरू करके धक्का-मुक्की और मारपीट शुरू कर दी तथा शरीर पर कार्यालय की टेबल-खुर्सियां फेंकी. वहीं अन्य सामान की तोड़फोड़ की. धानला की ग्रामसेविका दर्शना गायकवाड हमेशा अनुपस्थित रहती है. जिससे ग्रापं में अनेक गंभीर समस्यांए निर्माण हुई है.

Advertisement

गौरतलब है कि यहां बोगस पानी सिंचाई समिति गठित की गई है. ग्रामस्थों ने चुनी समिति को कार्यन्वीत नही किया गया. प्रोसेंडिग पर विशिष्ठ क्षेत्र के लोगों के हस्ताक्षर लिए जाते है. ग्रामसेवक आमसभा की ग्रामस्थों को जानकारी नही देते. जिससे ग्रामस्थों के प्रश्नों का जवाब नही मिलता. इसी बातों का जवाब पूछने के लिए ग्रामस्थ बिडिओ आये थे, जहां बिडिओ ने ग्रामस्थों को टालमटोल कर जवाब दिया. जिससे नागरिकों का घुस्सा भड़का ऐसा तापेश्वर वैद्य ने कहा है.

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement