Published On : Mon, Feb 27th, 2017

डीयू की गुरमेहर कौर ने हिंसा का विरोध किया तो उसे दुष्कर्म और हत्या की धमकी मिलने लगी, भाजपा सांसद ने उसकी तुलना दाऊद से कर दी

Advertisement


नई दिल्ली:
सोशल मीडिया पर इनदिनों गुरमेहर कौर और हिंसा के खिलाफ चलाया गया उनका एकाकी अभियान चर्चा में है। इस बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा गुरमेहर कौर के अभियान से बौखलाए एबीवीपी के पदाधिकारियों ने उनके साथ दुष्कर्म करने, उनकी हत्या करने की धमकी के साथ उनकी तुलना कुख्यात माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम से कर दी।

क्या है मामला
दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं द्वारा ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडेरेशन (एआइएसएफ) के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुयी थी। इस झड़प को रोकने की कोशिश करने वाले दो शिक्षकों की पिटाई भी एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने की थी। दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर कौर ने एबीवीपी की गुंडागर्दी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें वह हाथ में तख्ती लिए हुए हैं और उस तख्ती पर लिखा हुआ है कि मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं युद्ध ने मारा था। गुरमेहर कौर के पिता सेना में कप्तान थे और 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे। बीते बुधवार को रामजस कॉलेज के सेमिनार में जेएनयू के छात्र उमर खालिद को वक्ता के तौर पर बुलाए जाने का एबीवीपी के छात्र विरोध करने पहुंचे थे। विरोध हिंसक होने पर करीब 20 छात्र घायल हो गए थे। उमर खालिद राजद्रोह के मामले में आरोपी है। डीयू की छात्रा गुरमेहर ने अपने फेसबुक पोस्ट में पूरे मामले का जिक्र किया था। गुरमेहर का फेसबुक कैंपेने सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

दाऊद से की तुलना
डीयू पर जारी सियासत के बीच एक बीजेपी सांसद के ट्वीट से विवाद और बढ़ गया है. इस मामले में नया विवाद खड़ा हो गया है। मैसूर से बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने गुरमेहर कौर की तुलना दाऊद इब्राहिम से करते हुए एक तस्वीर ट्वीट किया। इसमें दाऊद से गुरमेहर की तुलना की गई है। सोशल मीडिया पर बीजेपी सांसद के इस पोस्ट की कड़ी आलोचना हो रही है।

Advertisement
Advertisement

की थी दुर्व्यवहार की शिकायत
छात्र नेताओं के साथ हिंसा का विरोध कर रहीं गुरमेहर कौर का कहना है कि अभियान चलाने के बाद जो लोग इससे नाराज हैं वो उनको और उनकी सहेलियों को बलात्कार की धमकी दे रहे हैं। साथ ही गुरमेहर ने आरोप लगाया कि उन्हें राष्ट्रविरोधी कहा जा रहा है और उनका मजाक उड़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डर तो लगता है जब कोई आपको हिंसा या दुष्कर्म की धमकी देने लगे।

वायरल हुए संदेश में क्या है
गुरमेहर कौर का जो फेसबुक संदेश वायरल हुआ है, असल में वह एक तस्वीर है, जिसमें उन्होंने एक तख्ती हाथ में उठा रखी है और उस तख्ती पर लिखा है, “मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूँ। मैं किसी भी संकीर्ण राजनीतिक विचारधारा को अपने हक़ और अपने परिसर को अगवा करने की इजाजत नहीं दूँगी। देश का हर विद्यार्थी मेरे साथ है।” गुरमेहर की यह पोस्ट फेसबुक पर खूब वायरल हुई और देश भर से उन्हें युवाओं और विद्यार्थियों का भरपूर समर्थन मिला। एबीवीपी और भाजपा के लोग इसी वजह से गुलमेहर से नाराज हैं और उसके खिलाफ सोशल मीडिया में अनाप-शनाप लिख रहे हैं।

गुरमेहर की हिम्मत
गुरमेहर कौर ने तमाम प्रतिवाद पर खेद व्यक्त करते हुए इसे संकीर्ण मानसिकता वालों की सोच उजागर करने वाला कहा है। उनका कहना है कि वह शहीद सैनिक की बेटी हैं और किसी से नहीं डरती। गुरमेहर राजनीति के बजाय लेखन को अपना पेशा बनाना चाहती हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement