Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Oct 23rd, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    बजट पर चर्चा हुई मैराथन,श्रेय सीएफसी,आईटी विभाग को

    – लगातार 7.30 घंटे चली VC द्वारा वर्ष 2020-21 के प्रस्तुत बजट पर चर्चा

    नागपुर : पहली मर्तबा मनपा का कोई विभाग कम समय में गुणवत्तापूर्ण सफल दिखी,वह भी सीएफसी सह आईटी विभाग में.जिसके युवा टीम ने कल मनपा वर्ष 2020-21 के बजट पर चर्चा सत्र का सफल आयोजन किया।यह चर्चा सत्र हल्की-फुल्की बाधा को छोड़ दिया जाए तो लगभग 7.30 घंटा चली.बजट सुचना सह और कुछ मामलों में विरोध अंकित कर महापौर संदीप जोशी ने निर्देशों को शामिल कर बहुमत से बजट को मंजूरी प्रदान की गई,अब देखना यह हैं कि मनपायुक्त कब बजट को प्रशासकीय मंजूरी प्रदान करते हैं.

    ऐसी सफलता गत आमसभा के दौरान भी मिल सकती थी लेकिन ऐसा तय हुआ था कि आमसभा मिनटों में निपट जाए,इसलिए VC में तकनिकी खामियां सामने लाकर 10 मिनट के भीतर जन-गण-मन कर दिया गया.

    आश्चर्य की बात यह भी थी कि ठीक उसके बाद वर्ष 2020-21 के मनपा बजट का पठन स्थाई समिति सभापति ने किया,तब लगभग पौन घंटा/1 घंटा VC में तकनीकी खराबी नहीं आई.इसके बाद तीसरी सभा भी हुई,जिसमें भी कोई दिक्कत नहीं आई.

    उल्लेखनीय यह हैं कि कल का चर्चा सत्र सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक का PLAN किया गया था,जिसे और जल्दी समेटने की कोशिश भी की जा रही थी लेकिन पक्ष-विपक्ष के वक्ताओं के दबाव में लगभग 3 बजे दोपहर को अनिश्चित काल के लिए बढ़ा दिया गया। जो लगभग शाम 7 बजे के आसपास समाप्त हुई.इस चर्चा सत्र में लगभग 150 नगरसेवकों,अधिकारियों और कर्मियों ने भाग लिया।

    VC के दौरान नोट गिनते दिखें,सभी सकपका गए
    बजट के चर्चासत्र VC के माध्यम से होनी थी,इसलिए संबंधितों ने लिंक रेबड़ी की तरह बाँट दी थी.इसी क्रम में किसी ज़ोन का ( ADMIN 123 ) एक कर्मी मोबाइल/कंप्यूटर पर बजट का चर्चासत्र देखने/सुनने के लिए वीडियो शुरू कर अपना काम भी कर रहा था,अर्थात VC के दौरान काफी मिनट तक्क वह नोट गिनते सभी को नज़र आया,क्यूंकि यह चर्चासत्र की रिकॉर्डिंग शुरू थी इसलिए सभी सकपका गए और उसका पता लगाने सह उसे VC से हटाने (MUTE) करने का निर्देश दिया।

    संभवतः आगामी 29 अक्टूबर को सुरेश भट्ट सभागृह में सभा लेने की अनुमति मिलने वाली हैं,जिसमें स्थाई समिति के सेवानिवृत सदस्यों की जगह नए सदस्यों का चयन किया जाएगा।इसके बाद जनवरी में होने वाली सभा में अन्य समय विशेष समिति के सदस्यों सह सभापतियों का चयन किया जाएगा।

    बजट के दौरान निम्न वक्ताओं के संबोधन
    विक्की कुकरेजा – स्वास्थ्य समिति के सभापति विक्की कुकरेजा ने कहा कि बजट को संतुलित बताए।बजट में पिछले काल के कामों को पूरा करने पर बल दिया गया.कोरोना काल जैसे बीमारियों से सामना करने के लिए स्वास्थ्य सम्बंधित मामलों में विशेष निधि का प्रावधान सराहनीय रहा.572-1900 लेआउट के शेष विकास कार्यों के लिए निधि का प्रावधान बढ़ाने के लिए समिति से निवेदन किया।साथ ही सभी नगरसेवकों से मनपा आय बढ़ाने में सहयोग की गुजारिश भी की.और अंत में आयुक्त से इस बजट को प्रशासकीय मंजूरी देने की मांग भी की.

    बंटी कुकड़े – परिवहन समिति के पूर्व सभापति बंटी कुकड़े ने कहा कि राज्य की महाआघाडी सरकार सह मनपा प्रशासन ‘आपली बस’ का संचलन रोक शहर के नागरिकों को मनपा द्वारा दी जाने वाली सुविधा से वंचित कर रही.इस चक्कर में सरकारी निधि से खरीदी गई 300 से अधिक बसें कबाड़ होती जा रही,साथ ही बस चालक,कंडक्टर लगभग 1500 कर्मी बेरोजगार हो गए,अब वे अपने परिवार के लालन-पालन के लिए अन्य रोजगार की ओर भटक रहे,जिसके जिम्मेदार मनपा प्रशासन होंगी।

    तानाजी वनवे- मनपा में विपक्ष नेता तानाजी वनवे ने कहा कि बजट में आय बढ़ाने के लिए कोई विशेष पहल नहीं की गई.नगर रचना,संपत्ति कर,बाजार,जलप्रदाय विभाग को मजबूत करने से मनपा की खुद की आय स्त्रोत तैयार हो सकती हैं लेकिन न प्रशासन और न ही पदाधिकारी इस ओर ध्यान दे रहे.आयुक्त ने ३ वर्ष से अधिक समय से एक ही विभाग में तैनात विभाग प्रमुखों की बदली पर बढ़ा सवाल उठाया,इनकी ही वजह से मनपा का आय प्रभावित हुआ हैं.इनका जल्द से जल्द अन्य विभागों में तबादला होना चाहिए।खास कर वे अपने सम्बोधन में संपत्ति कर विभाग प्रमुख को मनपा का जवाई तक कह दिया।और इसे हटाने का दमखम मनपा प्रशासन और सत्तापक्ष ने होने का आरोप भी लगाया।

    आजतक नदी में नाव,तालाब में प्लेन नहीं उडी,जिसका जोर-शोर से बखान किया गया था.लन्दन स्ट्रीट आजतक जस के तस हैं.मनपा सम्पत्तियों का डाटा मनपा के पास न होने से अतिक्रमण का मामला बढ़ते जा रहा.यह बजट सिर्फ और सिर्फ आंकड़ों का खेल हैं,जिसका उन्होंने निषेध किया।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145