Published On : Thu, Jan 3rd, 2019

प्रहार स्कुल के मार्गदर्शन में कई विद्यार्थी बने सेना में अधिकारी

25 साल होने पर रजत जयंती का होगा आयोजन

नागपुर: इस साल प्रहार समाज जागृति संस्था अपनी रजत जयंती मना रही है. इस संस्था की नागपुर में प्रहार मिलिट्री स्कुल के नाम से 3 स्कुल है. इस संस्था को अब 25 वर्ष होने जा रहे है. इस अवसर पर 9 जनवरी से लेकर 17 जनवरी तक विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है.

यह जानकारी गुरुवार को रिटायर्ड फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवाली देशपांडे ने दी. रविनगर के प्रहार मिलिट्री स्कुल में वह पत्रकारों को जानकारी दे रही थी. उन्होंने बताया कि उनके पिता कर्नल देशपांडे ने ही इसकी शुरुआत की थी. उन्होंने बताया की नाना पाटेकर की फिल्म ‘ प्रहार ‘ के सैनिक सलाहकार वे ही थे. इस स्कुल में हॉर्स राइडिंग की शुरुवात की थी. इस स्कुल के मार्गदर्शन में करीब 218 विद्यार्थी सेना में अधिकारी बन चुके है.

उन्होंने जानकारी दी कि जहां जहां देश में आपदा आयी है प्रहार की टीम कि ओर से मदद की गई. उन्होंने कहा कि कर्नल देशपांडे ने इस कार्यक्रम की संकल्पना की थी लेकिन उनका 20 अप्रैल 2018 को देहांत हो गया. उनकी इच्छा थी कि केवल विदर्भ ही नहीं विदर्भ से बाहर भी प्रहार की स्कुल हो. जिसके कारण अब गुजरात के द्वारका में भी स्कुल शुरू की जाएगी. अब तक इस स्कुल से मार्गदर्शन लेकर करीब 218 अधिकारी सेना में अधिकारी बन चुके है.