Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, May 27th, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    मनपा प्रशासन कर रहा ग़ैरकृतकर्ता बीवीजी का बचाव

    सेना का शिष्टमंडल नितिन तिवारी के नेतृत्व में अतिरिक्त मनपायुक्त से मिला

    नागपुर– Bvg ( भारत विकास ग्रुप) के कचरा भ्रष्टाचार के मामले को संज्ञान में दिलाने हेतु आज शिवसेना शहर समन्वयक नितिन तिवारी के साथ शिवसेना के पदाधिकारी मनपा आयुक्त तुकाराम मुंडे से मुलाकात करने मनपा कार्यालय पहुंचे परंतु अत्यधिक व्यस्तता दिखाते हुए तुकाराम मुंडे ने अति. आयुक्त राम जोशी से मिलने का संदेश अपने दूत द्वारा भिजवाया, अति. आयुक्त राम जोशी को नितिन तिवारी ने निवेदन देकर bvg द्वारा खोदे गए मिट्टी के गड्ढे की बात कर ,कैसे कंपनी के लोग कचरे में मिट्टी का भ्रष्टाचार कर रहे है यह समझाने की बात कही तो राम जोशी ने बताया कि जहा bvg की पार्किंग है, वहां पर हमारे पास पूरी रिकॉर्डिंग है,और हम सब पता लगा लेंगे वाली व्यंगनात्मग बात करते हुए ,bvg के भ्रष्टाचार की वकालत करने की कोशिश की और पूरी यंत्रणा और राजनीतिक दबाव की लाचारी प्रदर्शित की।

    नितिन तिवारी ने राम जोशी को बताया कि उनके द्वारा आयुक्त तुकाराम मुंडे को फोन पर दी गई सूचना के अनुसार भांदेवा डी स्थित bvg कंपनी के पार्किंग स्थल पर बड़ी मात्रा में मिट्टी खोदी गई है, जिसका मुआयना मनपा आयुक्त के निर्देशानुसार स्वास्थ्य अधिकारी प्रदीप दासरवार ने भी किया, तथा शहर के तहसीलदार के निर्देश पर वहा राजस्व विभाग द्वारा उत्खनन स्थल का पंचनामा भी किया गया जिसमें १६०० घन मीटर मिट्टी की खुदाई के प्रमाण मिले।

    यह मिट्टी संबंधित कंपनी द्वारा लगातार खुदाई करके कचरे के रूप में , भंदेवाडी स्थित मनपा के धर्मकांटे पर वजन कर डंपिंग यार्ड में खाली की जाती थी जिसकी मात्रा प्रति ट्रक तकरीबन १० से ११ टन होती थी। जिसका किराया bvg द्वारा मनपा से वसूल किया जाता रहा है। bvg कंपनी को झोंन क्र. ६ से झोन क्र. १० तक की कचरा संकलन की जिम्मेदारी दी गई है, परंतु कंपनी द्वारा कचरे कि जगह मिट्टी लोड कर ,कचरे के रूप में मिट्टी का बड़ी मात्रा में उपयोग किया जाता रहा है ,जिसके कारण मनपा से प्रतिमाह करोड़ों रुपयों का किराया भी वसूल किया जा रहा है।संबंधित कंपनी द्वारा निम्नलिखित अनियमितताएं की का रही है।

    १) bvg कंपनी ने टेंडर की शर्त के मुताबिक सभी छोटे वाहनों को डोर टू डोर कचरा संकलन के लिए नहीं भेज रही थी ,पिछले कई महीनों से तकरीबन ५० छोटे वाहन लगातार पार्किंग में खड़े थे, जिन्हें मामला रोशनी में आने के बाद कल दिनांक २५/५/२०२० को सड़कों पर कचरा संकलन के लिए उतारा गया ,जिसके लिए ५१ सफाई कर्मचारियों को जिन्हें जबरन अवकाश पर भेज दिया गया था ,उन्हें वापस ड्यूटी पर बुलाया गया।

    २) नियमानुसार व करारनामा शर्त के अनुसार डोर टू डोर छोटी गाड़ियों द्वारा संकलित कचरे को नीचे न डालकर सीधे कंपैक्टरी( बंद बड़े वाहन) में डालना है, और वह बड़ा वाहन सीधे भांडेवादी जाकर खाली करना है। परंतु bvg कंपनी के अधिकारियों के निर्देश पर छोटे वाहनों द्वारा कचरा किसी एक खुली जगह पर एकत्रित किया जाता है, वहां पर आस पास से किराए के डंपरों द्वारा उसी जगह पर मिट्टी गिराई जाती है, और उस मिट्टी को जेसीबी मशीन द्वारा मिश्रित कर बड़े वाहनों में लोड कर डंपिंग यार्ड लाया जाता है, जिसमें बड़ी मात्रा में सिर्फ मिट्टी पत्थर होते है।

    ३) मनपा द्वारा किए गए करार अनुसार bvg कंपनी किसी भी प्रकार के निजी ( बाहर के) वाहनों या मशीनों का उपयोग नहीं कर सकती, परंतु bvg द्वारा प्राइवेट डंपरों व मशीनों का उपयोग मिट्टी खोदने व लाने के लिए बड़ी मात्रा में किया जा रहा है।

    ४) महोदय bvg कंपनी द्वारा लाए जाने वाले कचरे में बड़ी मात्रा में मिट्टी के उपयोग के कारण मनपा की तिजोरी को प्रतिमाह करोड़ों का चूना लगाया जा रहा है। Bvg द्वारा अब तक औसतन कचरा ६०० टन प्रतिदिन के हिसाब से डाला जा रहा है, जबकि उसके अन्तर्गत आनेवाले क्षेत्र में वास्तविकता में इतनी मात्रा में कचरा होता ही नहीं है, वास्तविक कचरा तक़रीबन ४०० से ४५० टन प्रतिदिन है और लॉक डाउन के समय यह घटकर ३०० से ३५० हो गया है। मतलब कंपनी द्वारा प्रतिदिन २०० से २५० टन मिट्टी कचरे की जगह लाई जाती है। २५० टन*1950 =487500/ अर्थात

    30दिन*487500=1,46,25000/(एक करोड़ छयालीस लाख) का महीने का मनपा तिजोरी को चूना लगाया जा रहा है।
    ४) मनपा द्वारा किए गए करारनामा अनुसार bvg कंपनी के कचरा संकलन में उपयोग में आनेवाले प्रत्येक वाहन व मशीन में जीपीएस सिस्टम लगाया जाना अनिवार्य है तथा उसपर निगरानी हेतु एक मनपा अधिकारी नियुक्त किया जाना अनिवार्य है ताकि संबंधी काम व वाहनों के लोकेशन की पूरी जानकारी रखी जा सके परंतु इसपर कोई प्रगति नहीं है।

    ५) कलमना में हरिओम कोल्ड स्टोरेज के बाजू से खाली जमीन से हजारों टन मिट्टी संबंधित कंपनी द्वारा डंपिंग यार्ड में कचरे के रूप में लाई गई है, जहां पर किराए के डंपरों से ३०० रुपए में एक ट्रक मिट्टी खरीदकर उस मैदान में डाली जाती है और किराए कि जेसीबी द्वारा ऐसी सैकड़ों ट्रक मिट्टी bvg के वाहनों में लोड कर डंपिग यार्ड लेकर कांटा कर खाली की जाती है,जिसकी जांच कर सख्त कार्यवाही की जाए।

    ६) पिछले कुछ दिनों से भिन्न भिन्न जगहों पर नाला सफाई पर निकलने वाली मिट्टी को कम दामों में खरीदकर bvg द्वारा उनके वाहनों से डंपिंग यार्ड लाया जा रहा है।

    ७) डंपिंग यार्ड धर्मकांटे पर लगे कैमरे ऑनलाइन होना चाहिए और पहले थे भी जिसे मनपा अधिकारी कक्ष में देखा जा सकता परंतु bvg कंपनी की इस कालागुजारी को छिपाने के लिए मनपा अधिकारियों की मिलीभगत से यह कैमरे ऑफलाइन कर दिए गए है। इसकी जांच कर कैमरे ऑनलाइन किए जाए।

    ८) जब आपको मैंने दिनांक २३ मई शाम को bvg पार्किंग में मिट्टी खुदाई की जानकारी दी ,उसके बाद आपके निर्देश पर अगले दिन सुबह स्वास्थ्य अधिकारी प्रदीप दासर वार जी ने मौका स्थल पर पहुंचकर bvg का काम देख रहे अमोल माने व मनोहर पूड़के को संबंधित मामले की जानकारी देकर तुरंत गड्ढा बुझाने को कहा ताकि मामले को रफा दफा किया जा सके, और आपको गुमराह करने के लिए शनिवार रात में ही भंडेवादी में स्थित बायो खद कंपनी से डंपरो से मिट्टी मंगवाकर पार्किंग में एकत्रित कर आपको पहले गलत रिपोर्ट दी गई, महोदय प्रदीप दासरवार द्वारा इस मामले में संबंधित कंपनी से साठगांठ का मामला स्पष्ट होता है, और इनकी सांठगांठ में पूरे भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा है, तत्काल प्रभाव से उन्हें वहां से हटाया जाए और उनकी जांच बिठाई जाए ।

    ९) महोदय डंपिंग यार्ड में इंचार्ज के रूप में कार्य कर रहे अधिकारी राठौड़ भी सम्पूर्ण रूप से इसमें सम्मिलित है, राठौड़ द्वारा डंपिंग यार्ड पर कार्य कर रहे कर्मचारियों व सुरक्षा कर्मियों को धमकाकर पैसे वसूलने की भी खबर है, कचरे की जगह मिट्टी की पूरी खबर राठौड़ को रहती है, और इन्हीं की मिलीभगत से इस पूरे भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा है। रविवार दिनांक २४ मई को आपकी जानकारी में यह मामला आने के कारण bvg की प्रतिदिन कचरा क्षमता को झटका लगा है और वह घट गई है परंतु कचरे की मात्रा पूरी करने के लिए सोमवार दिनांक २५ मई को राठौड़ द्वारा मंगलवार जोनल अधिकारी बोकारे को फोन कर लेटर बनाकर नाले की मिट्टी bvg के वाहनों में भेजने को कहा गया और ५ ट्रकों में तकरीबन ३० टन मिट्टी आई भी। जबकि करार अनुसार नाले की मिट्टी डंपिंग यार्ड नहीं लाई जा सकती।

    bvg कंपनी ने करोड़ों की मिट्टी कचरे के रूप में डालकर करारनामा का उलंघन कर मनपा से धोखाधड़ी की है, और मिट्टी खोदकर मिट्टी चोरी भी जिसके लिए राजस्व विभाग से जानकारी प्राप्त कर पोलिस में कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज करवाने कि कृपा करे ताकि दोषियों पर कार्यवाही की जाए, और करोड़ों का राजस्व वसूल करे। साथ ही इनका साथ देनेवाले अधिकारी प्रदीप दासरवार व राठौड़ को तत्काल वहां से हटाकर इनकी जांच बिठाए, bvg द्वारा लाए जाने वाले कचरे की क्षमता अपने आप प्रतिदिन तकरीबन २०० से २५० टन काम हो जाएगी और मनपा के करोड़ों बचेंगे।

    नितिन तिवारी बताया कि संबंधित मामले की जानकारी शिवसेना सचिव सूरज चौहान को दी गई है, तथा मामले मुख्यमंत्री साहब व मंत्री एकनाथ शिदे तक भी पहुंचाया जाएगा। तिवारी ने चेतावनी दी है कि यदि इस मामले की जांच बिठा दोषियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की गई तो ,मनपा के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।

    शिष्टमंडल में युवा सेना जिलहा प्रमुख हितेश यादव, शहर प्रमुख अक्षय मेश्राम , मुन्ना तिवारी, उपजिलहा प्रमुख आशीष हाडगे, समन्वयक अब्बास अली,निखिल उपस्थित थे।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145