Published On : Thu, Nov 23rd, 2017

पुलिस से मुखबरी से शक में ग्रामीण को नक्सलियों ने उतारा मौत के घाट


गढ़चिरोली/नागपुर: पुलिस के मुखबिर होने के शक में फिर एक शख़्स को गढ़चिरोली में नक्सलियों ने मौत के घाट उतार दिया। जिले की धनोरा तहसील के सोडे गाँव में रहने वाले सुरेश तोफा की पुलिस मुखबरी के शक में निर्ममता से हत्या कर दी गयी। बुधवार देर रात नक्सली सुरेश के घर पहुँचे। सो रहे सुरेश को नक्सलियों ने नींद से उठाया और घर से बहार ले गए। घर के बाहर ही सुरेश के शरीर पर कुल्हाड़ी से कई वार कर उसकी निर्मम हत्या कर दी गयी। नक्सलियों को शक था की सुरेश पुलिस के लिए मुखबरी का काम करता था और इलाके में होने वाले नक्सलियों की हलचलों को पुलिस से साझा करता था।

हत्या के बाद नक्सलियों ने गाँव में एक बैनर भी लगा दिया जिसमे सुरेश को मुखबिर करार दिया गया है। इस बैनर में पुलिस की मुखबरी करने वालों को इसी तरह सजा देने की बात भी नक्सलियों द्वारा इस बैनर में कहीं गयी है। गुरुवार सुबह जब ग्रामीण घरों से बाहर निकले तो उन्हें सुरेश की लाश और बैनर दिखाई दिया। बीते दो दिनों में अकेले धानोरा तहसील में नक्सलियों ने तीन लोगो को मौत के घाट उतारा है। इस तरह की सिसिलेवार हत्याओं की वजह से तहसील में दहशत का माहौल बन चुका है।