Published On : Tue, Aug 29th, 2017

“माझी मेट्रो – माझा उत्सव”

Majhi metro - majha utsav
नागपूर:
लोकमान्य बाल गंगाधार तिलक द्वारा स्वराज्य के लिये गणेशोत्सव का प्रारंभ किया गया था. इस परंपरा को १२५ वर्ष पूर्ण होने के निमित्त महा-मेट्रो रेल परियोजना की ओर से व्यवस्थापकीय संचालक डॉ. बृजेश दीक्षित कि पहल पर गणेशोत्सव के दौरान “माझी मेट्रो – माझा उत्सव” का दस दिवसीय आयोजन किया गया है. “माझी मेट्रो माझा उत्सव” के तहत मेट्रो की टीम महानगर के गणेश मंडलों को भेंट देकर मंडल के पदाधिकारियों से चर्चा कर संवाद के माध्यम से विचारों का आदान प्रदान करते है. इसी क्रम में मेट्रो की टीम ने रेशमबाग स्थित नागपूर का राजा गणेशोत्सव मंडल को भेंट दी.

पिछले २४ वर्षी से नागपूर का राजा नागपूर क्षेत्र के भाविकों का आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. विविध सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रमो का आयोजन मंडल द्वारा किया जाता है. मेट्रो टीम के सदस्यो ने गणपती सेना उत्सव मंडल मोतीबाग के पदाधिकारियों से चर्चा कि पिछले ३७ वर्षी से मोतीबाग दक्षिण पूर्व मध्य रेल कॉलोनी में गणपती उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है. सामाजिक, सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजन में मंडल रेल परिवार बढ चढकर हिस्सा ले रहे है. इस वर्ष मेट्रो रेल कोच की प्रतिकृती मंडल द्वारा बनाई गयी है. मेट्रो कोच में मेट्रो रेल स्टेशनों के अलावा तकनीकी जानकारी देणे के उदेश्य से बोर्ड लगाए गये है.

मेट्रो टीम ने महल क्षेत्र के राजा के नाम से विख्यात महल चा राजा गणेश मंडल को भेट दी. पिछले ५० वर्षो से यह मंडल गणेश भक्तो के श्रद्धा का केंद्र बना हुआ है. सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजन मंडल द्वारा किए जा रहे है. दक्षिणामूर्ती स्वयंसेवक गणेश मंडल, महल की ओर से पिछले ९७ वर्षो से गणेश प्रतिमा स्थापित की जा रही है. आयोजकों के अनुसार आजादी कि जंग में इस मंडल की भूमिका अग्रणी रही है. आकर्षक पंडाल में विराजित बाप्पा के दर्शन करने वालों कि भीड दिनभर लगी रहती है. इस मंडल की ओर से वर्षभर कमजोर वर्ग की साहायतार्थ के उपक्रम कार्यान्वित कीए जाते है. चिकित्सा सेवा कार्य इस मंडल द्वारा प्राथामिकता से किया जाता है.

प्रत्येक मंडल के पदाधिकारियों से महा मेट्रो रिच-४ के मुख्य परियोजना प्रबंधक सुरेश,ट्राफिक कंसलंटट अरविंद गिरी, मिडीया कंसलंटट सुनील तिवारी, ने चर्चा की. चर्चा के दौराण पदाधिकारी व गणेश भक्तो ने महा मेट्रो के कार्य के प्रति समाधान व्यक्त किया, साथ ही शहर के विकास में मेट्रो रेल कि भूमिका उल्लेखनीय होणे का विश्वास जताया. गणेश भक्तो और पदाधिकारियों ने इस बात को मान्य किया कि आवागमन में विकास कार्यो के चलते थोडी असुविधा जरुर हो रही है, लेकीन जो उपलब्धि होने जा रही है उसके लिए असुविधा सहन करना जरुरी भी है. “माझी मेट्रो माझा उत्सव” के अंतर्गत मेट्रो कि टीम ने गणेश मंडल के पदाधिकारियों को स्मृती चिन्ह भेंट कर उन्हे सम्मानित किया. गणेशोत्सव मंडल का इतिहास नागपूर मेट्रो के साथ सांझा करते हुए बनायी गयी शॉर्ट फिल्म मेट्रो सोशल नेटवर्क के माध्यम में देखी जा सकती है.