Published On : Thu, Mar 16th, 2017

दो साल में तैयार होगा सीताबर्डी में मेट्रो रेल का मुख्य स्टेशन

Nagpur Metro

नागपुर: नागपुर मेट्रो रेल का मुख्य स्टेशन सीताबर्डी स्थित मुंजे चौक पर बनने जा रहा है। हालही में जीरो माइल स्टेशन के साथ मुंजे चौक स्टेशन के काम की शुरुवात हो चुकी है। यहाँ होने वाले काम के लिए यातायात बाधित हो रहा है। सीताबर्डी स्टेशन शहर के चार दिशाओं से गुजरने वाली मेट्रो परियोजना का एक्सटेंशन भी होगा जिसको बनाने में लगभग 2 वर्ष की कालावधि लगेगी। गुरुवार को कस्तूरचंद पार्क मैदान के पास निर्मित जानकारी केंद्र में पत्रकारों से बात करते हुए मेट्रो रेल परियोजना के प्रोजेक्ट डायरेक्टर महेश कुमार ने बताया कि मुंजे चौक के पास यातायात के मार्ग को परिवर्तित किया गया है। सबसे पहले सड़क मार्ग से फुटपाथ को हटाकर वहाँ दो मीटर का मार्ग बनाया जा रहा है, जिससे कि यातायात को कुछ हद तक सुचारू किया जा सके। जारी काम के क्रियान्वयन के लिए स्थानीय दुकानदार और नागरिकों से भी राय ली जा रही है। सबसे पहले पिलर डालने का काम होगा जिसमे करीब 10 महीने का समय लगेगा। लेकिन कोशिश है कि जनता को सहूलियत प्रदान करते हुए यह कार्य किया जाये।

मेट्रो रेल परियोजना का प्रमुख स्टेशन सीताबर्डी में होगा। 5 माले की टी शेप में बनने वाली बिल्डिंग के पहले माले पर कॉनकोर्स, दूसरे पर ईस्ट – वेस्ट कॉरिडोर का प्लेटफॉर्म, तीसरे पर नार्थ – साउथ कॉरिडोर का प्लटफ़ॉर्म जबकि चौथे माले पर ओसीसी यानी ऑपरेशन कन्ट्रोल सेंटर बनाया जायेगा। इस बिल्डिंग का डिजाइन फ्रांस की कंपनी इनिया ने किया है जबकि कन्स्ट्रक्शन का काम आईएलएफएस कंपनी करेगी, यही कंपनी वर्धा रोड के 10 स्टेशनों का भी निर्माण कर रही है। जबकि जीरो माइल स्टेशन का काम आईटीडी नामक कंपनी करेगी। कुमार के मुताबिक सीताबर्डी स्टेशन आर्किटेक्चर की मिसाल होगा। यह अपने आप में अनोखा प्रयोग है। फ़िलहाल बिल्डिंग के पाँच माले के निर्माण को लेकर कार्य शुरू है। आगे की ऊंचाई को स्टील का इस्तेमाल कर पूरा करने दिशा में प्रयास शुरू है।

सीताबर्डी के साथ ही जीरो माइल स्टेशन का काम भी शुरू किया जा चुका है। यहाँ पार्किंग के लिए जमीन के 9 मीटर अंदर पार्किंग का निर्माण किया जायेगा। बीते दिनों सीताबर्डी में शुरू काम का स्थानीय व्यापारियों द्वारा विरोध किये जाने की जानकारी सामने आयी थी जिसके बाद मेट्रो ने आज संवाददाताओं के माध्यम से शहर की जनता को किसी तरह की समस्या उत्पन्न न होने का भरोसा दिलाया। मेट्रो के जनसंपर्क विभाग के महाप्रबंधक शिरीष आप्टे के अनुसार जल्द ही मेट्रो संवाद कार्यक्रम शुरू करेगी। मॉरेस कॉलेज मैदान में जानकारी केंद्र का निर्माण भी किया जायेगा। अपनी तरफ से यातायात व्यवस्था के ही साथ अन्य जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कॉल सेंटर का भी निर्माण करेगा।

वित्तीय वर्ष 2017- 2018 में खर्च होंगे 2700 करोड़
नागपुर – नागपुर मेट्रो परियोजना में अब तक 1500 करोड़ रूपए ख़र्च किये जा चुके हैं। परियोजना शुरुवाती दौर से निकलकर अब रफ़्तार पकड़ रही है आने वाले वक्त में हजारों करोड़ रूपए परियोजना में लगाए जाएंगे। वित्तीय वर्ष 2017 – 2018 में करीब 2700 करोड़ रूपए खर्च होने का अनुमान है। नागपुर मेट्रो परियोजना के प्रबंधक फाइनांस शिवमंथन के मुताबिक मेट्रो के पास परियोजना के विकास के लिए लगातार पैसे उपलब्ध हो रहे हैं। अब तक 11 सौ करोड़ खर्च किया जा चुका है।