Published On : Wed, Sep 22nd, 2021

महादेवी त्रिशलारानी नाटिका ने दर्शकों का दिल जीता

नागपुर : पुलक मंच परिवार, महावीर गृहनिर्माण सहकारी संस्था, अमरस्वरूप फाउंडेशन द्वारा पर्युषण महापर्व पर ‘महादेवी त्रिशलारानी’ नाटिका को दर्शकों ने सराहा.

Advertisement
Advertisement

जैन धर्म के 24 वे तीर्थंकर भगवान महावीर के जीवन पर आधारित नाटिका मंचन किया गया. बड़े अंतराल के बाद नाटिका का मंचन होने दर्शकों में उत्साह था. डॉ. रवींद्र भुसारी लिखित नाटिका ‘महादेवी त्रिशलारानी’ त्रिशलारानी की भूमिका वैदेही सोईतकर, महावीर के पिता राजा सिद्धार्थ की भूमिका अविनाश वेखंडे और बाल कलाकार बाल महावीर की भूमिका राम सागर राठी ने की. पार्श्व संगीत अनिल इंदाणे का था. विद्युत व्यवस्था शांतिनाथ भांगे बाबा पदम, ध्वनि व्यवस्था आदिनाथ भांगे बंडू पदम की थी. विशेष सहयोग अमोल विजय कापसे ने दिया.

Advertisement

मंगलाचरण ऋषभ आगरकर, सुरश्री आगरकर, प्रकाश वाकेकर, गजल, विभास गहाणकर ने किया. मंगल उदबोधन हर्षा वेखंडे, गृहस्थाचार्य आगम रत्न पं. मनोहरराव आग्रेकर ने दिया. सचिन जैन का साक्षात्कार डॉ. रवींद्र भुसारी, सचिन कोठारी का साक्षात्कार प्रा. आदेश बरया ने लिया. वायोलिन वादन सुमंतकुमार गहाणकर ने किया. भक्तिगीत ऋषभ आगरकर, सुरश्री आगरकर, श्रेयांस मारवडकर, रागेश्री आगरकर, जिनांशी मेहता, प्रकाश वाकेकर, विभास गहाणकर ने प्रस्तुत किया. दीप प्रज्ज्वलन महेंद्रकुमार कटारिया, दिलीप शिवणकर, अनंतराव शिवणकर, धुलचंद जैन, बसंतीदेवी जैन, भरतेश नखाते, सरोज नखाते, निर्मल शाह, अनिल इंदाणे, आदिनाथ भांगे बंडू पदम, प्रकाश मारवडकर, डॉ. नरेंद्र भुसारी, शरद मचाले, कल्पना सावलकर ने किया.

Advertisement

समारोह का संचालन स्वाति मिलिंद तुपकर, प्रणिता रितेश बोबडे ने किया. इस अवसर पर डॉ. रवींद्र भुसारी, मनोज बंड ने अपने विचार व्यक्त किए. पुलक मंच परिवार पर गीत सुनील आगरकर, रागेश्री आगरकर, सुरश्री आगरकर ने प्रस्तुत किया. गीतकार डॉ. रवींद्र भुसारी थे. बच्चों की पाठशाला इस कार्यक्रम में मंगलाचरण रिद्धि किशोर मेंढे ने किया. उदबोधन मयंक किशोर मेंढे ने किया. आभार प्रदर्शन शरद मचाले ने किया.
Attachments area

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement