Published On : Thu, Nov 28th, 2019

मेट्रो: हर माह खुलेंगे 2 स्टेशन

नागपुर: बर्डी से लेकर खापरी तक तथा बर्डी से हिंगना मार्ग पर प्रतिमाह कम से कम 2 स्टेशन शुरू करने का टार्गेट मेट्रो प्रबंधन ने रखा है. अधिकांश मेट्रो स्टेशनों का निर्माण कार्य अंतिम चरण में आ चुका है, जिसके कारण अब इन्हें खोलने में और वक्त नहीं लगेगा. उक्त जानकारी महा मेट्रो के प्रबंध निदेशक बृजेश दीक्षित ने दी.

उन्होंने कहा कि सबसे पहले बंशीनगर और वासुदेवनगर स्टेशन शुरू होगा. इसके बाद अजनी और राहटे कालोंनी स्टेशन को अगले माह आरंभ किया जाएगा. नए वर्ष में छत्रपति चौक और रचनानगर स्टेशन का शुभारंभ हो जाएगा. इसके लिए आवश्यक मंजूरी लेने की प्रक्रिया भी आरंभ कर दी गई है. जैसे-जैसे मंजूरी मिलती जाएगी, पब्लिक के लिए स्टेशन खुलता जाएगा. उनका कहना है कि निर्माण कार्य समय पर चल रहा है और विलंब जैसी कोई बात नहीं है. 2020 दिसंबर तक पहला चरण पूरा हो जाएगा.

नहीं होगा असर
देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री नहीं होने पर प्रोजेक्ट पर कितना असर पड़ेगा, पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम सब लोकतंत्र में रहते हैं इसलिए हमें नहीं लगता कि प्रोजेक्ट पर किसी प्रकार का कोई प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा. सभी सरकारें आज विकास चाहती हैं, रुकावट पैदा करना किसी का मकसद नहीं होता. इसलिए हम मेट्रो सेकंड फेज को लेकर भी काफी आशान्वित हैं कि समय पर इसे मंजूरी मिल जाएगी.

कोच फैक्टरी के लिए जमीन नहीं ली
उन्होंने स्वीकार किया कि अब तक मिहान में कोच फैक्टरी लगाने के लिए जमीन नहीं ली गई है. फैक्टरी का डीपी प्लान तैयार हो गया है. इसमें खर्च का प्रावधान भी किया जाएगा, जिसके बाद ही हम भुगतान की स्थिति में रहेंगे. इसलिए अभी इसमें वक्त लगेगा, लेकिन प्रक्रिया जारी है.

ब्राडगेज मेट्रो को रेलवे बोर्ड की मंजूरी
दीक्षित ने बताया कि नागपुर से आसपास के क्षेत्रों के लिए ब्राडगेज मेट्रो संचालित करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा गया था, जिसे बोर्ड ने मंजूरी प्रदान कर दी है. यह बड़ी उपलब्धि है. इसके बाद हम एमओयू से एग्रीमेंट की ओर बढ़ेंगे. बोर्ड ने मध्य रेलवे और एसईसीआर के जोनल कार्यालय को अध्ययन कर, एग्रीमेंट की ओर कदम उठाने को कहा है. इससे उम्मीद की जा सकती है कि प्रक्रिया आगे बढ़ेगी. मेट्रो और रेलवे के अधिकारी बैठकर तमाम पहलुओं पर विचार-विमर्श करेंगे और एक एग्रीमेंट पर समझौता करेंगे. हालांकि इस सभी प्रक्रियाओं में अभी भी 1 वर्ष से अधिक का समय लगेगा.

फीडर सर्विस के लिए 13 रूट फाइनल
उन्होंने बताया कि अधिक से अधिक बस मेट्रो स्टेशन से होकर गुजरें इसके लिए 13 रूट को वर्तमान में फाइनल किया गया है. मनपा और मेट्रो के अधिकारी इसके लिए की बैठक कर चुके हैं और जैसे-जैसे स्टेशन खुलेंगे, रूट को फाइनल किया जाएगा.

5,000 यात्री प्रतिदिन
वर्तमान में कम स्टेशन होने के बाद भी मेट्रो में औसतन 4,000 से 5,000 यात्री यात्रा कर रहे हैं. शनिवार और रविवार को यात्रियों की संख्या 10 से 12 हजार तक पहुंच रही है. उनका कहना है कि कम स्टेशन के लिए यह ठीक है, लेकिन लोगों को और रुचि लेने की जरूरत है ताकि राइडरशिप को बढ़ाया जा सके. इस अवसर पर सुनील माथुर, अनिल कोकाटे उपस्थित थे.