Published On : Sat, Nov 1st, 2014

उमरखेड : बिगड़ी डिपि से किसानों का हो रहा नुकसान


चार महीनों से की जा रही मांग की ओर बिजली कंपनी की उदासीनता

उमरखेड (यवतमाल)। बिगड़ी डिपि की वजह से कम दबाव की बिजली आपूर्ति होने के कारण परिसर में किसानों की फसल सूखती जा रही है. कम दबाव के कारण मोटरपंप जल गए है जिससे किसानों को डबल नुकसान झेलना पड़ रहा है. बिगड़ी डिपि को जल्द से जल्द बदलकर नई डिपि लगाकर ग्राहकों को सेवा प्रदान करे ऐसी मांग नागरिकों से की जा रही है. लेकिन चार माह से कृषिपंप धारक किसानों की मांग की ओर किसी ने ध्यान भी नहीं दिया. जिससे किसानो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस वजह संबंधित किसानो ने बिजली आपूर्ति के वरिष्ठ अधिकारीयों से नियमित बिजली आपूर्ति करने की मांग की है.

गौरतलब है कि, विडुल परिसर के प्रभाग क्र. 2 के काशीनाथ कुटके के खेत में 15 वर्ष पूर्व लगाई गई 100 किलो वैट डिपि की वायरिंग जली हुई है और इस डिपि पर 25 से 30 किसानों के विद्युत मोटरपंप निर्भर है. कम दबाव की बिजली से फेज बारबार उड़ रही है, मोटर की वायरिंग भी जल रही है. इस वजह से किसानो को डबल नुकसान उठाना पड रहा है. उक्त ख़राब डिपि बदलकर नई डिपि लगाने की मांग काशीनाथ कटके, अशोक बोँसले, किशोर कटके, शेषराव माकोड़े, शिवचरण हिंगमारे, राजू मुलंगे समेत 25-30 कृषि पंप धारक किसानों ने बिजली वितरण कंपनी के कार्यकारी अभियंता पुसद की ओर की है. किसानों को हो रहे नुकसान की ओर ध्यान देकर डिपि बिना विलंब किए लगाए अन्यथा तीव्र आंदोलन किया जायेगा ऐसा इशारा किसानों ने किया है.

Advertisement
File Pic

File Pic

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement