Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, May 26th, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    काटोल शहर तथा ग्रामीण आचल में टिड्डियों किडो दल का हमला

    काटाेल: आज शाम बजे काटोल शहर व ग्रामीण तथा नरखेड के तथा ग्रामीण आचल में अचानक बादलों धूप प्रकोप कायम था वहीं एकदम से आसमान घोडे किड के भिषण टिड्डियों झूड एक दम से आवज करते हजारों खरबों तादात में यह टिड्डी दलों का महा झूड बादलों आसमानों डरावनी आवज करते लोगों के घरों तथा पेड़ों पर व खेत खलिहानों घूमते हुए कही बैठे हुए दिखाई दिखाई दिया जिससे किसानों तथा नागरिकों में इस टिड्डियों दलों के इस किडो से फसलों कोशिश बडे पैमाने पर नुकसान पहुंचाया जा सकता है जिससे अभी कल एक दो दिन पहले यह टिड्डियों दलों प्रकोप कारी किडो का हमला मध्यप्रदेश के भोपाल आस पास के जिलों में बड़े पैमाने पर दिखाई दिया जो की वह कि इस समय की जो भी हरी फसलों को बडे पैमाने नुकसान पहुंचा रहा है

    वहीं अभी कल शाम तथा रात के समय अमरावती जिले के वरूळ, मोर्शी तहसील के शहरों तथा ग्रामीण आचल में टिड्डियों किडो का हमला होने बात सुनाई दि तथा उसके फोटो विडियो भी निकालें गये जो संतरा मौसमी सब्जियों की फसलों व अभी की फसलों खाकर चपाचट कर जाता वहीं बड़े संतरा मौसमी आदि फलो के पेड़ों सहीत कोई भी पेड़ों पर केवल पेड़ों की लडकियां दिखाई देती पेड़ों पर एक भी पत्ते नहीं दिखाई देता है यह टिड्डियों दल के किडो का बडा प्रकोप हमला रहता जिससे किसानों को इस टिड्डियों दल प्रकोप किडो का ने फिक्र बढ़ाने का काम शुरू कर दिया है वहीं आज शाम के पाच बजे के दौरान मध्यप्रदेश होते हुए यह टिड्डियों दल प्रकोप महाराष्ट्र के अमरावती जिले के वरूळ, मोर्शी होते हुए नागपूर जिल्हे के काटाेल विधानसभा क्षेत्र नरखेड तहसील के जलाखेडा, भारसिंगी, येरडा होते हुए काटाेल शहर तथा ग्रामीण आचल में पारडसिंगा खानगाव, डोंगरगाव, पावरहाउस पठार, भाजीपानी, मसकापरा, होते हुए रूक करते हुए यह टिड्डियों दलों खरबों कि तादात में यह प्रकोप कारी किडो का हमला दल गुजरते हुए आसमान में आवज करते दिखाई दिया जिससे किसानों तथा नागरिकों में दहशत निर्माण हो गयी इस टिड्डियों दलों के किडो को भगाने के किसानों द्वारा अपने खेत-खलिहानों मे कडु निम के पत्तों को जलाकर धुआँ कर गॅस पॉयजन बनाने तथा बर्तनों का आवाज ढोल बजाकर पटाखे फोडकर टैक्ट का साइलेंसर निकालकर आवाज करके इन टिड्डियों दलों आगे तरफ उड़या जा सकता है

    परन्तु यह रात्री के समय जिस जगहों पर विश्रान्ति करते हैं तो वह पर कि फसलों तथा पेड़ पौधों व सभी हरी वस्तुओं का सफाया कर अड्डे दाल देते वहीं अड्डे धिरे धिरे संपूर्ण जगहों फैलाव कर सकते हैं है इस लिए उस पर उपाय योजना करने की जरूरत है। वहीं आज जैसे ही काटाेल शहर तथा ग्रामीण आचल में अचानक बादलों इन टिड्डियों दलों के झूड कि खबरों प्राप्त होते ही वहीं आज नवभारत में मध्यप्रदेश में इस टिड्डियों दलों के प्रकोपी हमले का समाचार पत्र में प्रकाशित खबरों को ध्यान में रखते हुए काटाेल महसूल अधिकारी श्रीकांत उंबरकर इन्होंने तुरंत पत्रकारों द्वारा सुचना मिलते ही काटाेल कुषी अधिक सुरेश कन्नाके और इनके टिम को सुचित कर उपाययोजना करने के लिए इन टिड्डियों दलों के झूड के झूड चल शहरों तथा ग्रामीण आचल गांव की और बड रहे

    इसलिए तुरंत उपाययोजना करने के आदेश देते हुए काटाेल कुषी अधिक सुरेश कन्नाके अपने पूरे कुषी विभाग की टीम को लेकर काटाेल शहर में जो फवारणी वाले टैक्टर लेकर उनके जानकारी प्राप्त कर जहां जहां यह टिड्डी दलों झूड गये हुए वहा वहां गॅस पॅवजन फव्वारे मारने का काम शुरू किया है और उसे आगे आगे भगाने प्रयास कर रहे हैं वहीं इस अचानक आये खरबों कि तादाद में इन टिड्डियों दलों किडो से किसानों तथा नागरिकों व अधिकारियों में दहशत निर्माण कर दि हैं वहीं पहले से ही कोव्हिड 19 कोरोना व्हायरस महामारी भंयकर बीमारी का प्रकोप चल रहा जिससे अब इस नये किडो का हमला किया है जिससे लोगों द्वारा अलग अलग चर्चा करते हुए दिखाई देते हुये दिखाई दे रहे हैं।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145