| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Jun 16th, 2017
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    क्या सुको के महामार्ग पर शराबबंदी नियम से ‘मिलिट्री’ प्रशासन मुक्त है !

    File Photo

    नागपुर टुडे: ३१ मार्च २०१७ को देश की सर्वोच्च न्यायलय ने देश के सभी राष्ट्रीय व राज्य के महामार्गों पर से ५०० मीटर दुरी के भीतर सभी शराब की दुकानों,बार,बियर शॉपी,परमिट रूम आदि को बंद करने के कड़क व ऐतिहासिक निर्देश दिए.जिसे ३१ मार्च की रात १२ बजे से लागु करते हुए सभी आबकारी विभागों ने अपने-अपने दायरे में अमल में लेट हुए सील कर दिए.इस निर्णय के दौरान यह भी साफ़ किया गया था कि महामार्गों पर शराब के विज्ञापनों पर भी अंकुश रहेंगा। अब सवाल यह उठता है कि क्या देश के फौजी संस्थान याने मिलिट्री को इस नए कानून से परे रखा गया है.लेकिन मिलिट्री परिसर के बाहरी भाग में शराब का प्रचार-प्रसार इन दिनों गरमगरम चर्चा का विषय बना हुआ है,कोई इसकी खिलाफत इसलिए नहीं करता क्योंकि उन्हें मिलिट्री की कड़क कानून से खौफ है.

    अगर नहीं तो मामला यह है कि नागपुर से १६ किलोमीटर की दुरी पर कामठी परिसर में मिलिट्री का बहुत पुराना प्रतिबंधित क्षेत्र है.यहाँ प्रत्येक सार्वजानिक वाक्या मिलिट्री कानून के हिसाब से होता है.होना भी चाहिए ,यह भी कड़वा सत्य है देह में न्यायपालिका सभी भारतीयों के लिए एक सी है.३१ मार्च २०१७ को सुको ने शराब पीकर महामार्ग पर हुए एक युवक की दुर्घटन में मौत सम्बन्धी महामार्ग पर शराब की बिक्री पर पाबन्दी लगाने सम्बन्धी एक याचिका पर फैसला सुनते हुए निर्देश दिया की कुछ जगह छोड़ देश के सभी राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय महामार्गों से ५०० मीटर की दुरी के भीतर सभी शराब की दुकानें बंद की जाये। जिसका शाट-प्रतिशत पालन भी हुआ.

    इस निर्णय के दौरान यह भी निर्देश दिया गया था कि महामार्गों पर शराब के होर्डिंग की भी पाबंधी रहेंगी।

    लेकिन कामठी स्थित मिलिट्री परिसर ( साई मंदिर के निकट ) के कैंटीन आदि की सुरक्षा दीवार पर हज़ारों बियर के खाली बोतल जोड़े में टांग दिए गए है.इस सन्दर्भ में कोई यह कह रहा है कि मिलिट्री में खपत शराब की खाली बोतलों को बेचने के बजाय उसे फोड़कर यह साबुत दीवारों पर गाड़ने या टांगने से परिसर को सुरक्षित किया गया है.तो कोई यह कह रहे है कि खाली साबुत टंगे बोतल से मिलिट्री शराब की मार्केटिंग हो रही है.नशा के आदि इस मार्ग से आवाजाही करते तो उनके मुँह में पानी आ जाता है.

    इस मार्ग से आवाजाही करने वाले आदि-आदि चर्चा करते पाए गए.आवाजाही करने वालों का सवाल है कि क्या यह जाने-अनजाने में शराब का प्रचार तो नहीं हो रहा.अगर जाने-अनजाने में भूलवश गुस्ताखी हो गई तो अविलंब सुरक्षा दीवार से खाली बियर के टंगे बोतल हटाए जाये।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145