Published On : Mon, Jul 5th, 2021

पीएम आवास योजना के नाम पर लगाया लाखों का चूना

-78 लोगों से की 60 लाख की धोखाधड़ी

नागपुर. प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत लोगों को घर दिलवाने का झांसा देकर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला यशोधरानगर पुलिस थाने के अंतर्गत सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने मोहम्मद अलताफ कुरेशी (38) के शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया है। वह माजरी रेल्वे क्रॉसिंग का निवासी है। सतीश रामकृपालसिंह बघेल (45) आरोपी का नाम है। वह धम्मदीपनगर, कांजी हाऊस चौक का निवासी है।

पिछले दो साल से सतीश लोगों को बेवक़ूफ़ बना रहा था। उसने आजरी-माजरी परिसर में रहने वाले लोगों को अपने जाल में फंसाया। वांजरा परिसर में प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत इमारतों का निर्माण होने और गरीब तथा मध्यम वर्गीय लोगों के लिए फ्लॅट बनाने की स्कीम के बारे में बताया। इसी तरह उसने यह भी कहा कि आवास योजना का काम करने वाले बहुत से सरकारी अधिकारी उसके निकटवर्ती लोग हैं। अधिकारीयों के साथ ‘सेटिंग’ के ज़रिये अल्ताफ समेत कई अन्य नागरिकों को घर दिलवाने की बात कही। उसकी फरेब के जाल में 78 लोग फंस गए। चेक, कॅश और ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से उसने ग्राहकों से 60 लाख रुपए लिए और धोखाधड़ी की।

फ्लॅट के नकली दस्तावेज़ जारी किए:
इसके बाद उसने फ्लॅट के नकली दस्तावेज़ ग्राहकों को दिए। जब ग्राहकों ने पूछा कि फ्लॅट अब तक बना क्यों नहीं है तब उसने जवाब दिया कि कोविड-19 महामारी के चलते निर्माण कार्य स्थगित है। अन्य सवालों को भी हर बार वह टालता रहता। अंत में जब ग्राहकों को सतीश और उसके फरेब के बारे में पता चला तो उन्होंने सतीश से पैसे वापस मांगे। लेकिन सतीश ने पीड़ित ग्राहकों को जान से मारने और नुकसान पहुंचाने की धमकी दी।

पीड़ित ग्राहकों ने पुलिस से शिकायत की। सतीश के खिलाफ धोखाधड़ी करने, साज़िश करने, धमकी देने के संबंधित धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है। रविवार रात को पुलिस ने सतीश को गिरफ्तार किया। उसे आज न्यायालय में हाज़िर किया जाएगा। पुलिस को जाँच के दौरान पता चला है कि इसी तरह उसने अन्य गलत स्कीमों में फंसाकर कई और नागरिकों के साथ धोखाधड़ी की है।