Published On : Thu, Sep 8th, 2016

नवरात्रि में कोराडी मंदिर में मनाया जायेगा कोराडी महोत्सव, भक्त ले सकेंगे हेलोकॉप्टर राइडिंग का आनंद

chandrashekhar bawankule

File Pic

नागपुर: राज्य ने इस वर्ष कोराडी महोत्सव मनाने का फैसला किया है। नवरात्री के अवसर पर आयोजित होने वाले इस महोत्सव में भक्तो के मनोरंजन के लिए कई तरह की व्यवस्था रहेगी। लगभग डेढ़ करोड़ की लागत से आयोजित होने वाले इस महोत्सव की रुपरेखा तैयार करने का निर्देश सरकार ने एनआईटी को दिया है। राज्य सरकार खुद इस महोत्सव में 50 लाख रूपए का सहयोग देगी। जिले के पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने कोराडी महोत्सव के संबंध में जानकारी देते हुए बताया की कोराडी महोत्सव भक्तो के लिए आकर्षण का केंद्र होगा। राज्य सरकार ने कोराडी को राज्य स्तरीय पर्यटन क्षेत्र घोषित किया है। यह पहला मौका है जब सरकार किसी धार्मिक महोत्सव के लिए खुद भागेदारी निभा रही है। इस महोत्सव के लिए 75 लाख रूपए जमा भी हो चुके है। इस आयोजन का प्रारूप तैयार करने की जिम्मेदारी दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र के निदेशक पियूष कुमार को सौंपा गया है। महोत्सव के दौरान कोराडी मंदिर पहुंचने वाले भक्तो के मनोरंजन की व्यवस्था होगी। हैलीकॉप्टर राइडिंग, बलून राइडिंग, लेज़र शो जैसे आयोजन होंगे। यह महोत्सव राज्य भर के पर्यटको को नागपुर के प्रति आकर्षित करेगा। महोत्सव के प्रचार प्रसार के लिए खास एप बनाया जायेगा। अब हर वर्ष कोराडी महोत्सव मनाया जायेगा जिसमे प्राइवेट पार्टनर की भी मदत ली जाएगी।

बुद्ध सार्किट की तरह नागपुर के धार्मिक स्थलों को जोड़ा जायेगा
पर्यटन के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा कई योजनाओ पर काम शुरू होने की जानकारी पालकमंत्री ने दी। उन्होंने कहा कि बुद्ध सार्किट की ही तरह जिले के धार्मिक स्थलों को जोड़कर पर्यटन सर्किट बनाया जायेगा। अदासा, धापेवाड़ा, रामटेक, कोराडी, पारासिंघा को स्वदेश दर्शन योजना के तहत विकसित किया जायेगा। राज्य सरकार अपने खर्चे और बीओटी के माध्यम से इस धर्मस्थलों का विकास करेगी। सी प्लेन पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अंबाझरी, कोराडी, खिंडसी सर्किट का विकास किया जायेगा। फ़िलहाल जिसका अध्ययन शुरू है। नागपुर के कालझोनरी में राज्य सरकार की 450 एकड़ जगह है जहां फिल्म सिटी के निर्माण के संबंध में उन्होंने मुख्यमंत्री से चर्चा की है। कोराडी मंदिर के ठीक पीछे 600 एकड़ जगह में दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र शिल्पग्राम का निर्माण होगा। 100 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले इस शिल्प ग्राम में बीते 8 हजार वर्षो की संस्कृति के दर्शन होंगे। फ़िलहाल जमीन हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू है। आने वाले चार साल के भीतर नागपुर टूरिस्ट हब के रूप में विकसित हो जायेगा। कोराडी तालाब में महनिर्माति वॉटर पार्क का निर्माण करने वाली है। यह पार्क भी पर्यटको के लिए खास आकर्षण का केंद्र होगा। .

वीआईपी दर्शन के लिए देने होंगे पैसे
श्री महालक्ष्मी जगदंबा संस्थान कोराडी में अब वीआईपी दर्शन के लिए जेब ढीली करनी पड़ेगी। मंदिर ट्रस्ट ने इस वर्ष नवरात्रि से वीआईपी दर्शन के लिए भक्तो से 500 रूपए शुल्क लेने का फैसला किया है। मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने गुरुवार को यह जानकारी दी। पालकमंत्री के मुताबिक नवरात्रि के दौरान मंदिर में आने वाली भारी भीड़ की वजह से यह फैसला लिया गया है। नवरात्रि महोत्सव को लेकर आज उपविभागीय अधिकारी की बैठक हुई। जिसमे कई तरह के फैसले लिए गए। मंदिर में जलने वाली अखंड ज्योत के दर्शन दिन में केवल एक बार निर्धारित समय पर ही किये जायेगे इसके अलावा मंदिर परिसर में भिखारियों के बैठने के लिए 11 स्थानों का चयन किया गया है।