Published On : Sun, Mar 14th, 2021

नागपुर शहर के यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन को जानिये

नागपुर टुडे भाग 6 : यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन

नागपुर– शहर के यशोधरा पुलिस स्टेशन की स्थापना 13 मई 2008 को की गई थी । इसे जरीपटका और पांचपावली पुलिस स्टेशन के एक बड़े परिक्षेत्र का विभाजन करके बनाया गया था. यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन काफी संवेदनशील पुलिस स्टेशन में आता है । इस परिसर में अपराध रोकने के लिए और असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने क्राइम ब्रांच में तैनात वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (पीआई) अशोक मारोती मेश्राम (2002 बैच ) के हाथों यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन की कमान सौपी है ।

इस पुलिस स्टेशन में करीब 13 पुलिस अधिकारी और 97 पुरुष तथा महिला पुलिस कर्मचारी कार्यरत हैं । कामठी रोड स्थित इसकी हद में ऑटोमोटिव चौक , भीलगाँव, मेहंदीबाग पुलिया, आजरी माजरी, विटीबाग पुलिया और चिकली चौक के बीच का क्षेत्र शामिल है. राजीव गांधी नगर के साथ, वनदेवी झोपड़पट्टी, विनोबा भावे नगर, कुंदन नगर, इंद्रिया माता नगर, कांजी हाउस चौक, रानी दुर्गावती चौक, इट्टाभट्टी जैसे संवेदनशील परिसर में आते है ।

‘नागपुर टुडे ‘ से बात करते हुए, पुलिस निरीक्षक अशोक मेश्राम ने बताया कि कैसे उन्होंने यशोधरा नगर पुलिस क्षेत्र में अपराधो को रोकने के लिए किस तरह के सख्त कदम उठाएं हैं. उनके अनुसार उनके क्षेत्र में कई संवेदनशील परिसर शामिल है इसीलिए 24 घंटे कड़ी चौकशी बरती जाती है । एक मामूली विवाद से भी कभी-कभी बड़ी घटना घटित हो सकती है, इसलिए पुलिस द्वारा इलाके में निरंतर पुलिस पेट्रोलिंग की जाती है. उनका मानना है कि, यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन में उनके तैनाती के बाद में घरफोडी और शारीरिक अपराध जैसे मामलों में काफी कमी आयी है।

पुलिस निरीक्षक अशोक मेश्राम ने पहले ही अपना मोबाइल नंबर – 8888471234 – स्थानीय नागरिकों के साथ साझा कर रखा है और उन्हें सलाह दी है कि वे किसी भी वक्त सीधे उन्हें कॉल कर सकते हैं, या किसी भी तरह की कोई भी गुप्त जानकारी अगर कोई देना चाहता है तो बेखौफ होकर उन्हें दे सकता है, उसका नाम हमेशा गुप्त रखने का विश्वास भी श्री. मेश्राम ने जताया।

असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई
“परिसर में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों के कारण, यशोधरा नगर पुलिस ने पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार और जोन 5 के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) नीलोत्पल के मार्गदर्शन में इस क्षेत्र में कुख्यात अपराधी, अवैध शराब और जुआ के कारोबार के खिलाफ कठोर कार्रवाई शुरू की है..उन्होंने बताया कि पहले की तुलना में, हमने इस कार्रवाई को 10 गुना बढ़ा दिया है. यशोधरा नगर पुलिस द्वारा एक महीने के भीतर 162 विभिन्न अपराधों में करीब 64 शातिर अपराधियों, हिस्ट्रीशीटर को जेल भेजा गया है. इससे परिसर में शांति बनाने में काफी मदद मिली है । इस तरह की सख्त कार्रवाईयो के कारण, यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन में शरीर से संबंधित अपराध और घरफोडी का एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया जिससे पुलिसविभाग का काफी मनोबल भी बढ़ा है ।

महिलाओं के खिलाफ अपराध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा
पीआई मेश्राम आगे जानकारी देते हुए बताते है कि, यशोधरा नगर पुलिस क्षेत्राधिकार में बड़ी संख्या में श्रमिकवर्ग और प्रवासी मजदूर वर्ग शामिल हैं. शिक्षा की कमी और शराब की लत के कारण यहां घरेलू हिंसा के मामले ज्यादा घटित होते है. उन्होंने कहा कि भले ही हमारे पास महिला कर्मचारीयो की कमी हैं, लेकिन उन्होंने विशेष रूप से महिला अधिकारियों को परिसर की महिलाओं की सुरक्षा हेतु सख्त निर्देश दिए हैं. ऐसे मामलों में वे खुद विशेष ध्यान देते है. उन्होंने कहा की परिसर में महिलाओ के साथ अपराध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

स्थानीय नागरिकों के संपर्क में यशोधरा नगर पुलिस
इलाके में शांति बैठकों, मोहल्ला बैठकों , और सीनियर सिटीजन के साथ बैठकों के अलावा उनकी शिकायत सुनने के लिए, यशोधरा नगर पुलिस नागरिकों के साथ-साथ स्थानीय नगरसेवकों और बिजनेस ओनर्स के साथ बातचीत और उनसे संबंध स्थापित करती है. क्षेत्र घना और आबादी ज्यादा होने के कारण, यशोधरा नगर पुलिस क्षेत्राधिकार के तहत भले ही कभी-कभी छोटे मामले भी बढ जाते है. इसलिए अधिकारियों को दीवानी स्वरूप यानी एनसी मामलों में भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए है । क्षेत्र में किसी भी धार्मिक उत्सव या कार्यक्रम के दौरान यशोधरा नगर पुलिस आसपास के क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल बनाने के लिए स्थानीय धार्मिक नेताओं के साथ बैठक करती है.परिसर में नियमित गश्त के साथ ही परिसर में पैदल गश्त भी शुरू की है. खासकर रात के समय, और इस कारण अपराधों को नियंत्रण में लाने में व्यापक सफलता मिली है ।

परिसर के अपराधियों की होती है नियमित जांच
यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले परिसरों में अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस के पास इलाके में कुख्यात अपराधियों का जो चार्ट हैं, उसके मुताबिक अपराधियो की गतिविधियों पर पैनी नजर रखकर उन्हें वक्त – बेवक्त चेक किया जाता है. परिसर में नियमित रूप से पुलिस शांति बनाएं रखने के लिए हमेशा अपराधियों की सघन जांच करती है साथ ही समय-समय पर उनके खिलाफ भारतीय दंडसंहिता के तहत कठोर कार्रवाई भी करती है । ताकि अपराध और अपराधी दोनों पुलिस नियंत्रण में रहे. यशोधरा नगर पुलिस ने परिसर के नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एमपीडीए के तहत चार शातिर और एक खूंखार आरोपी को गिरफ्तार किया है. उन्होंने अपराधी तत्वों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है की अगर अपराध में शामिल रहे तो पुलिस की ओर से उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी ।

नागपुर शहर के नागरिकों को अपने एरिया के पुलिस स्टेशन के बारे में जानकारी हो, इस उद्देश्य को ध्यान में रखकर ‘ नागपुर टुडे ‘ ने एक विशेष सीरीज शुरू की है, जिसका नाम – अपने पुलिस स्टेशन को जानिये ‘ है. इसमें पुलिस स्टेशन से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी आम जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया गया. पुलिस स्टेशन की स्टोरी में आप अपने क्षेत्र के संबंधित पुलिस स्टेशनों में कार्यरत पुलिस इंस्पेक्टर, किसी भी आपात स्थिति के दौरान उनसे संपर्क करने के साधन, क्षेत्र में होनेवाली आगामी योजनाओ के बारे में जानकारी पहुंचाने की कोशिश ‘ नागपुर टुडे ‘ की ओर से की जा रही है । – रविकांत कांबळे