Published On : Mon, Jun 14th, 2021

नागपुर शहर के तहसील पुलिस स्टेशन को जानिये

नागपुर टुडे भाग 19: तहसील पुलिस स्टेशन

तहसील पोलिस स्टेशन नागपुर शहर

नागपुर टुडे : नागपुर शहर में 1956 में स्थापित, तहसील पुलिस स्टेशन शहर के सबसे पुराने और सबसे संवेदनशील पुलिस स्टेशनों में से एक है । आज वर्तमान में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (पीआई) जयेश मुरलीधर भंडारकर (1993 बैच के एक पीएसआई) इसका नेतृत्व कर रहे है। पुलिस अधिकारी जयेश भंडारकर स्वभाव से बेहद नम्र और अपराधियो के प्रति बेहद सख्त रवैया अपनाने वाले अधिकारी के रूप में पुलिस विभाग में उन्हें जाना जाता है ।

तहसील पुलिस स्टेशन में कुल 143 पुलिस अधिकारी और कर्मचारी तैनात है । इस पुलिस स्टेशन के तहत चार बीट बनाई गई हैं जिसमे मुख्यत: सीए रोड, मोमिनपुरा, टिमकी, शहिद चौक और बुधवारी बीट शामिल हैं। इसके अलावा मोमिनपुरा इलाका जहां मुस्लिम समुदाय रहता है इसे शहर का सबसे संवेदनशील क्षेत्र माना जाता है जहां पुलिस को 24 घंटे पैनी नजर रखनी पड़ती है । तहसील पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में गांजाखेत (इलेक्ट्रिक मार्केट), शहीद चौक स्तिथ (सराफा बाजार क्षेत्र) और भारत माता चौक शामिल है । आज विदर्भ का सबसे बड़ी कब्रगाह मोमिनपुरा में मौजूद हैं।

वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक जयेश भंडारकर, तहसील पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे से बात करते हुए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक जयेश भंडारकर ने तहसील पुलिस स्टेशन से जुड़ी एक अनूठी कहानी का पता लगाया कि कैसे तहसील पुलिस स्टेशन को यह नाम मिला, ” देश की आजादी के बाद इस क्षेत्र में “तहसील क्षेत्र” को संबोधित करने वाले कई मुख्य सरकारी कार्यालय शामिल थे, उसी के कारण लोगों ने इसे तहसील पुलिस स्टेशन के रूप में संबोधित करना शुरू कर दिया ।

तहसील पुलिस स्टेशन के डीबी टीम के साथ डीबी इंचार्ज पुलिस सब इंस्पेक्टर स्वप्निल वाघ , मोबाईल नंबर – 9881172080

नागपुर टुडे से पुलिस इंस्पेक्टर भंडारकर ने तहसील पुलिस स्टेशन के क्षेत्र में अपराध को रोकने के लिए तहसील पुलिस द्वारा किए गए कई सार्थक उपायों पर विस्तृत चर्चा की उन्होंने बताया कि, हमारे और जनता के बीच बढ़े आपसी सामंजस्य और संवेदनशील इलाके में सख्त पुलिसिंग वाली कार्यप्रणाली की वजह से इस क्षेत्र में सभी तरह के अपराध को कम करने में हमने सफलता पाई है इसी के परिणामस्वरूप तहसील पुलिस स्टेशन में जनवरी 2020 और मई 2021 के बीच एक भी हत्या की रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है । जिसका श्रेय हमारे सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को जाता है जिनका समय समय पर हमें मार्गदर्शन मिलता रहता है ।

रूट मार्च – तहसील पोलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी


समाज और पुलिस के बीच की खाई को पाटने के लिए और आपसी भाईचारा बनाने हेतु पीआई जयेश भंडारकर ने पहले ही अपना निजी मोबाइल नंबर – 9823052100 – स्थानीय लोगों के साथ साझा कर दिया है और उन्हें सलाह दी है कि किसी भी आपात स्थिति या किस भी कानूनी मामले में यदि कोई मदत चाहिए या कोई व्यक्ति अपराध या अपराधी से संबंधित गुप्त मालूमात साझा करना चाहता है तो उन्हें सीधे कॉल कर सकता है जानकारी देनेवाले का नाम हमेशा गुप्त रखा जाएगा इस बात का उन्होंने आश्वासन दिया है ।

रोल कॉल- तहसील पोलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी

पुलिस की दृश्य उपस्थिति अपराध के लिए प्रतिरोधी:
अनेक संवेदनशील इलाके और घने बाजार क्षेत्रों से भरे हुए तहसील पुलिस स्टेशन के इन इलाकों में 24 घंटे निरंतर कड़ी पुलिसिंग आवश्यक है इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने हर नुक्कड़ और गली में पुलिस तैनात कर रखी है। इन सभी प्रयासों से हमे काफी सफलता मिली है साथ ही हमारे 24 घंटे सतर्क बीट मार्शलों की कड़ी निगरानी के कारण नागरिकों में सुरक्षा की भावना सुनिश्चित करने में मदत मिल पाई है विशेषतः बीते दिनों तहसील पुलिस ने तीन हत्याओं को घटने के पहले ही रोक दिया है ऐसा पीआई जयेश भंडारकर ने बताया ।

जनता की शिकायतों को ध्यान से सुनने के लिए परिसर में नियमीत शांतता बैठक, मोहल्ला बैठक और वरिष्ठ नागरिको के साथ बैठक के अलावा, तहसील पुलिस स्थानीय नागरिकों, स्थानीय नगरसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और व्यापारी समुदायों के साथ समन्वय साधती रहती है ताकि उनके प्रश्नों का निराकरण किया जा सके। इसके अलावा तहसील पुलिस क्षेत्र के स्कूल, कॉलेजों में छात्र-छात्राओं के साथ बातचीत करने के लिए आयोजित कई सेमिनारों और जागरूकता अभियानों में भाग लेती है। यह प्रयास हमें युवाओं में जागरूकता फैलाने में मदद करता है, ”पीआई भंडारकर ने कहा।

तहसील पुलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी को मार्गदशन करते हुवे थानेदार जयेश भंडारकर


क्षेत्र में अनियमितताओं को रोकने के लिए निवारक कार्रवाई:
तहसील पुलिस स्टेशन के क्षेत्र में तहसील पुलिस ने मा.सीपी अमितेश कुमार और मा. डीसीपी लोहित मतानी की देखरेख में क्षेत्र में कट्टर अपराधी, अवैध शराब और जुआ कारोबार के खिलाफ संगठित कार्रवाई शुरू की है। तहसील पुलिस ने हाल ही में चार एमपीडीए और सात कुख्यात गुंडों को जिलाबदर किया है और दो फरार मकोका आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है । शहर के सबसे सवेंदनशील मोमिनपुरा क्षेत्र में लगातार चौकसी बरतने से तहसील पुलिस को क्षेत्र में असामाजिक गतिविधिया और अपराधों में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज करने में काफी मदत मिली है, ”पीआई भंडारकर ने कहा।

तहसील थाने में स्थानिक नागरिकों के संवाद

सीसीटीवी की भंडारण क्षमता बढ़ाएं स्थानीय नागरिक खुद भी सतर्क रहे । पीआई जयेश भंडारकर ने नागपुरवासियों से किया आग्रह

अपने प्रतिष्ठानों में महज सीसीटीवी स्थापित करना एकमात्र और पर्याप्त उपाय नहीं है बल्कि रिकॉर्ड किए गए फुटेज का पर्याप्त भंडारण भी रखना चाहिए। हमने अक्सर देखा है कि लोग अधिकतम एक सप्ताह का डेटा रखते हैं, इस पुरानी प्रणाली को बदलना होगा। इसके अलावा, मैं नागरिकों से सतर्क नागरिकों से आग्रह करना चाहूंगा और जब भी आपको कुछ भी संदिग्ध लगे तो हमसे तुरंत संपर्क करें, ”पीआई ने कहा।

तहसील पोलिस स्टेशन परिसर का नक्शा

नागरिकों को उनके क्षेत्रीय पुलिस स्टेशन के बारे में सूचित करने के लिए, नागपुर टुडे एक विशेष श्रृंखला के साथ आया – अपने पुलिस स्टेशन को जानिये – आम जनता को पुलिस स्टेशन के बारे में सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करने के लिए। रिपोर्ट में आपको संबंधित पुलिस थानों के पुलिस निरीक्षक, किसी आपात स्थिति में उनसे संपर्क करने के तरीके, क्षेत्र में अधिकारी के भविष्य के लक्ष्यों आदि के बारे में जानकारी मिलेगी।

– रविकांत कांबले