Published On : Thu, Jan 10th, 2019

मनपा पुनः शुरू करें खुद का पेट्रोल पंप

वरिष्ठ नगरसेवक जिचकर ने की आयुक्त से मांग

Kishor Jichkar

नागपुर: मनपा ने ईंधन बचत पर मंथन चल रहा,इसी क्रम में मनपा की बंद पेट्रोल पंप शुरू करने पर भी विचार शुरू हैं.उक्त मामले को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक किशोर जिचकर ने गत सप्ताह मनपायुक्त को पत्र लिख पेट्रोल पंप पूर्वतः शुरू करने की मांग दोहराई।

जिचकर के अनुसार पेट्रोल पंप शुरू करने से पेट्रोल खरीदने/भराने के नाम पर चोरी पर लगाम लगने के साथ ही साथ रोजाना पेट्रोल कूपन लेने और भरवाने में वाहन चालकों का २-३ घंटा की बर्बादी पर रोक लगेंगी। मनपा अबतक वर्षो से भोले पेट्रोल पंप से पेट्रोल/डीजल भरवाती रही हैं.आपूर्तिकर्ता पंप संचालक क्यूंकि एक हैं,इसलिए जब कभी बकाया बिल उनकी मांग के अनुसार मनपा प्रशासन नहीं दे पाती ,वैसी सूरत में वह पेट्रोल/डीजल देने में आनाकानी करता हैं.तब मनपा की वाहने पेट्रोल/डीजल के आभाव में खड़ी होते देखे गए हैं.खुद का पेट्रोल पंप शुरू होने पर उक्त दिक्कते भी बंद हो जाएंगी।

याद रहे कि मनपा अगर पेट्रोल पंप शुरू करती हैं तो मनपा को भी शहर के अन्य पेट्रोल पंप के लिए तय नियम का पालन करना पड़ेंगा।अर्थात ईंधन मांग करने के साथ ही साथ कुल राशि अग्रिम भेजनी पड़ेंगी।इसके लिए मनपा को सभागृह/स्थाई समिति की मंजूरी प्राप्त कर प्रत्येक आर्थिक वर्ष के लिए अंदाजन एकमुश्त राशि ‘रिजर्व’ रखनी पड़ेंगी।

मनपा द्वारा लगभग १२५ वाहनों का संचलन सह देखभाल किया जाता हैं.जिसमें ३ दर्जन कार का समावेश हैं.इसके अलावा हॉटमिक्स विभाग के डेढ़ दर्जन व अग्निशमन विभाग के ५ दर्जन के आसपास वाहने हैं.

वर्ष २०१४ में मनपा कारखाना विभाग ने एक प्रस्ताव तैयार की गई,जिसे आला अधिकारियों ने उक्त प्रस्ताव से होने वाले नफा-नुकसान का ठोस समीक्षा के बजाय सिरे से रद्द कर दिया था.

जिचकर के अनुसार मनपा का खुद का पेट्रोल पंप शुरू करने से मनपा को सालाना एक करोड़ रूपए से अधिक का बचत सह ईंधन भरवाने के नाम पर वक़्त जाया करने वाले कर्मियों से काम लेने के लिए प्रति घंटा अतिरिक्त खर्च किया जाता हैं,जिसका भी लाखों में बचत होंगा।

निर्माणाधीन अस्पताल में लगी अग्नि सुरक्षा उपकरणों की स्थिति का हो खुलासा
प्रभाग क्रमांक 9 अंतर्गत किंग्सवे मार्ग पर किंग्सवे बहुमंजिली इमारत में आज दोपहर भीषण आग लगी,जिसमें 7 लोग घायल हुए,जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। इस इमारत में नागरिकों की सुरक्षा की दृष्टि से की गई व्यवस्था पर मनपा के वरिष्ठ नगरसेवक किशोर जिचकर ने मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर से करते हुए उन्हें पत्र लिखा । उक्त परिसर मनपा के मंगलवारी ज़ोन अंतर्गत आती है।

उक्त इमारत के निर्माण कार्य हेतु मनपा अग्निशमन विभाग ने एन ओ सी दी थी। लेकिन समय समय पर विभाग द्वारा मुआयना किया गया या नहीं,बड़ा सवाल हैं। यह इमारत निर्माणाधीन है, उक्त आग की लपेट काफी भयानक थी,जिससे उस परिसर में कुछ घंटे तक आवाजाही प्रभावित रही। ट्रैफिक विभाग ने मामले की गंभीरता के मद्देनजर आवाजाही हेतु मार्ग परावर्तित किया।मनपा की स्वास्थ्य विभाग ने भी दौरा किया ।उनका कहना था कि आग की भीषणता और आग देखने उमड़ी भीड़ के वजह से घटना स्थल तक पहुंचने में काफी दिक्कत हुई।

मुख्यालय में स्वतंत्र जनसंपर्क कक्ष हो
जिचकर ने आयुक्त से मांग की कि मनपा में पहले की भांति नए या पुराने इमारत में जनसंपर्क कक्ष शुरू किया जाये।जहां जनसंपर्क अधिकारी सह सहयोगी कर्मियों की तैनातगी हो.इस कक्ष के माध्यम से मनपा मुख्यालय के सभी विभागों/पदाधिकारी कक्षों का आवक-जावक व्यवहार की व्यवस्था किया जाये।ताकि अकारण अधिकारी/पदाधिकारी के कक्षों के बहार/भीतर या फिर विभागों में असमय विचरण करने वालों पर अंकुश लग सके.और विभाग सह अन्य कक्षों में सुचारु रूप से कामकाज को अंजाम दिया जा सके.