Published On : Thu, Jun 4th, 2015

काटोल : प्लास्टिक कंपनी में भीषण आग


ढ़ाई करोड़ का नुकसान

एम.आय.डी.सी. की घटना
Fire in Plastic company
काटोल (नागपुर)। यहां के एम.आय.डी.सी. डोंगरगांव क्षेत्र में स्थित प्रेसिअस ऑरनोपॅक इंडस्ट्रीज में बुधवार की दोपहर भीषण आग लग गई. आग से करीब ढ़ाई करोड़ का नुकसान हुआ है. कंपनी में वेल्डिंग तार लपेटने वाली प्लास्टिक चक्री बनती है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार काटोल एम.आय.डी.सी. में हैदरबाद निवासी पृथ्वी अवतार सिंग मक्कड की कंपनी है. कंपनी का दूसरा यूनिट हैदराबाद में है. बुधवार को कंपनी साप्ताहिक छुट्टी थी. साप्ताहिक छुट्टी होने से कंपनी में कामगार भी नही थे. समीप के खोली में 3 ऑपरेटर रहते है. खाना बनाते समय ऑपरेटर राकेश खोटले गोंदिया निवासी को बाजु की खोली से धुआं निकलते हुए दिखाई दिया. उसने इसकी जानकारी सहकर्मी संजय और काल्या को दी.

उन्होंने तुरंत कंपनी संचालक गौरव मक्कड तथा पुलिस को सुचना दी. सुचना मिलते काटोल पुलिस थाने के पी.एस.आय. दिपक मस्के, हे.कां. रत्नाकर ठाकरे, प्रदीप पडोले, कैलास उइके घटनास्थल पहुंचे. वहीं काटोल नगर परिषद की आठ फायर ब्रिगेड गाड़ियां मौके पर पहुंची. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया. प्लास्टिक की वजह आग फ़ैल गई. जिससे कलमेश्वर और नरखेड न.प. की फायर ब्रिगेड गाड़ियां भी घटनास्थल भेजी गई.

Fire in Plastic company 2
कंपनी में वेल्डिंग तार लपेटने वाली प्लास्टिक चक्री का उत्पादन किया जाता है. ये माल इंदौर, हैदराबाद, कलमेश्वर आदि क्षेत्रों में भेजा जाता है. 2 शिफ्ट में 20 कामगार इस कंपनी में काम करते है. आग से 2 प्लास्टिक इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन, प्लास्टिक का कच्चा माल, इंजिन आयल ऐसा कुल ढाई करोड़ का नुकसान हुआ है.