| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, May 22nd, 2017
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    कन्हान डैकती को अंजाम देने वाले आरोपी पिस्तौल के साथ गोंदिया से गिरफ्तार


    नागपुर
    : कन्हान में सर्राफा दुकानदार के यहाँ हुई डकैती के आरोपियों और उन्हें पनाह देने वाले को पुलिस ने गोंदिया से गिरफ्तार कर लिया है. मामले में शामिल पांच आरोपियों को रविवार की रात में गोंदिया से धर दबोचा गया. 14 मई कि दोपहर करीब 2 बजे के दौरान कन्हान के आंबेडकर चौक स्थित अमित ज्वेलर्स में चार नकाबपोश डकैतों ने धावा बोल दिया था. इस डकैती में कन्हान निवासी 25 वर्षीया योगेश फूलसिंग यादव, नागपुर निवासी 24 वर्षीय नितेश मुन्नालाल राठोड, रामटेक के 23 वर्षीय समीर रविकांत लुटे और 25 वर्षीय उर्फ़ पियुष अंबादास जांगड़े को गिरफ़्तार किया गया है. पियूष को नागपुर से जबकि अन्य आरोपी और उन्हें पनाह देने वाले रामनगर गोंदिया निवासी भुरू मारुती धोटे को गोंदिया से गिरफ्तार किया गया. गिरफ़्तारी के दौरान आरोपियों से पिस्टल और सोने चाँदी के जेवरातों को भी बरामद किया गया है. तत्परता दिखाते हुए मामले को सुलझाने पर मुख्यमंत्री ने फोन कर जाँच दल को बधाई दी है.

    डकैती के दौरान आरोपियों को रोकने पर ज्वेलर्स के संचालक अमित गुप्ता पर आरोपियों ने फायरिंग भी की थी. इस फायरिंग में गोली अमित के पैरो में लगी थी जिस वजह से उसकी जान बालबाल बच गयी थी. डकैती के दौरान आरोपियों ने नगदी समेत 21 लाख 42 हजार रुपए का माल लूट था. दिनदहाड़े घटी इस वारदात के कारण व्यापारियों में काफी रोष था घटना के विरोध में र्षीयभी सर्राफा व्यापरियों ने तीव्र आंदोलन की चेतावनी भी दी थी. भारी दबाव के बीच शुरू मामले की जाँच का जिम्मा खुद पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने उठाया और पुलिस के कई दस्तो का गठन कर आरोपियों की तलाश के लिए उन्हें महाराष्ट्र के अलावा मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश के मथुरा और बुलन्दशहर में भेजा गया. आरोपियों का सुराग और उन्हें खोज निकालने के लिए कई स्तर पर प्रयास शुरू हुआ पुलिस ने आपराधिक प्रवृति के कई स्थानीय लोगो से भी पूछताछ की गयी इतना ही नहीं संदेह के आधार पर नागपुर सेंट्रल जेल में बंद आरोपियों पर निगरानी रखी गयी.

    स्थानिक पुलिस की अपराध शाखा के प्रमुख पुलिस निरीक्षक के संजय पुरंदरे के नेतृत्व में 8 दस्ते तैयार कर उन्हें तैनात किया गया. घटना को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने शातिराना ढंग से कड़ी प्लानिंग की थी. मौकाए वारदात की जगह आरोपियों के कोई सुराग तक नहीं छोड़ा था. पहचान छुपाने के लिए सभी ने अपना चेहरा ढका था और हैण्ड ग्लोज का इस्तेमाल किया था. पुलिस को गुमराह करने के लिए एक आरोपी ने फेटा पहन रखा था. आरोपियों को खोज निकालने के लिए साइबर सेल की भी मदत ली गयी संजीदगी से आरोपियों की खोज कर रही पुलिस को आरोपियों के गोंदिया में होने की गुप्त सूचना मिली जिसके बाद मामले को अंजाम देने वाले आरोपियों और उन्हें पनाह देने वाले शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया.


    आरोपियों के पास से 24 हजार नगद,पांच मोबाईल हैंडसेट और चार जिन्दा कारतूस भी पुलिस को बरामद हुआ है. पुलिस अधीक्षक ने पत्रपरिषद लेकर मामले को सुलझा लेने की जानकारी देते हुए मीडिया के समक्ष आरोपियों को पेश किया पुलिस अधीक्षक ने बताया की तत्परता दिखाते हुए मामले को सुलझाने और आरोपियों को गिरफ़्तार करने में सफल हुई नागपुर ग्रामीण पुलिस को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनसे बात कर बधाई दी. इस कार्यवाही में अप्पर पुलिस अधीक्षक नरसिंग शेरख़ाने,कामठी-काटोल के उपविभगीय पुलिस अधिकारी ईश्वर कातकाडे, स्थानिय क्राईम ब्रांच के निरीक्षक संजय पुरंदरे, कन्हान के थाने के पुलिस निरीक्षक राजेंद्र गायकवाड़, एपीआई उल्हास भुसारी , एपीआई पुरुषोत्तम अहिरकर के साथ अन्य कर्मचारी शामिल थे.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145