Published On : Tue, Nov 20th, 2018

कंचनमाना पांडे सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग खिलाड़ी

नागपुर : नागपुर की खिलाडी कांचनमाला पांडे देश की सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग खिलाड़ी चुनी गई है। केंद्र सरकार द्वारा दिव्यांग खिलाड़ियों के लिए दिए जाने वाले पुरस्कार की मंगलवार को घोषणा हुई। जिसमे कांचनमाला पांडे को वर्ष 2018 का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया है। कांचनमाला के अलावा राज्य के 6 खिलाड़ियों और 3 संस्थाओं को भी राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है। मूलतः अमरावती की कंचनमाना जन्म में अंधत्व कंचनमाना का स्विमिंग पसंदीदा खेल है।

कंचनमाना ने मेक्सिको में आयोजित पॅरा वर्ल्ड स्विमिंग चॅम्पियनशिप 2017 में भारत प्रतिनिधित्व करते हुए स्वर्ण पदक हासिल किया था। स्पर्धा में स्वर्ण पदक जितने वाली वह पहली महिला खिलाडी भी इस स्पर्धा में रही। उनकी इस उपलब्धि के बाद राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनका सत्कार करते हुए 15 लाख रूपए का ईनाम भी दिया था। अमरावती के स्टेस्ट बैंक कॉलोनी में जन्मी कंचनमाना की तैराकी खिलाडी के रूप में शुरुवात हनुमान व्यायाम प्रसारक मंडल से हुई। जिसके बाद उन्हें नागपुर स्थित आरबीआई में नौकरी लग गई।

वर्त्तमान में कंचनमाना आरबीआई के नागपुर स्थित विभागीय कार्यालय में सहायक के पद पर कार्यरत है। अब तक 10 से अधिक अंतरास्ट्रीय स्पर्धा में उन्होंने देश का प्रतिनिधित्व किया है। विभिन्न तैराकी स्पर्धा में उन्होंने 100 से अधिक स्वर्णपदक हासिल किये है। खेल के साथ ही कंचनमाला पढाई में भी होशियार रही है। बोर्ड की परीक्षा में उन्होंने 75 प्रतिशत अंक हासिल किये। जिसके बाद ग्रेजुएशन पूरा किया। इसी दौरान बैंकिंग परीक्षा की तैयारी की और आरबीआई में नौकरी हासिल करने में सफलता पायी।

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिए जाने वाले पुरुस्कार का वितरण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और विभाग के मंत्री थावरचंद गहलोत के हाँथो आगामी 3 दिसंबर को नई दिल्ली में प्रदान किया जायेगा।