Published On : Tue, Nov 24th, 2020

JEE Main 2021: जेईई-मुख्य परीक्षा जनवरी के बजाय फरवरी में कराई जा सकती है

नागपुर– देशभर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिये होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)-मुख्य को जनवरी के बजाय फरवरी में कराया जा सकता है. अधिकारियों ने यह बात कही है. कोविड-19 के बढ़ते मामलों और इस साल के लिये अभी भी चल रही दाखिले की प्रक्रिया के चलते यह फैसला लिया जा सकता है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ”इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले की प्रक्रिया अब भी जारी है, लिहाजा 2021 की जेईई-मुख्य परीक्षा को फरवरी में कराए जाने पर विचार चल रहा है. इससे उन छात्रों को फायदा होगा, जो पिछली परीक्षा में प्राप्त अंकों या उन कॉलेजों से संतुष्ट नहीं हैं, जहां उन्हें दाखिला मिल रहा है.” अधिकारी ने कहा, ”कोरोना वायरस के बढ़ते मामले भी एक वजह हैं.”

जेईई मेन एग्जाम पैटर्न
जेईई मेन की परीक्षा में कुल 75 सवाल पूछे जाते हैं, जो फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स से तीन अलग भागों में पूछे जाते हैं. हर सही जवाब के लिए 4 नंबर दिए जाते हैं और हर गलत जवाब के लिए एक नंबर काट दिया जाता है. अगर सवाल का जवाब न दिया जाए तो जीरो नंबर मिलते हैं. परीक्षा में पूछे जाने वाले सवाल 11वीं और 12वीं क्लास के फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स से पूछे जाते हैं.

जेईई मेन 2021 परीक्षा के लिए सिलेबस कम करने की मांग
कुछ समय पहले एनसीईआरटी (NCERT) की 57वीं सामान्य परिषद बैठक के दौरान दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सुझाव दिया था कि अगले वर्ष होने वाली जेईई (JEE Exams 2021) जैसी प्रवेश परीक्षाएं घटे हुए पाठ्यक्रम के आधार पर आयोजित की जानी चाहिए. बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने की थी, जिसमें राज्यों के शिक्षा मंत्री भी शामिल थे.