Published On : Wed, Aug 21st, 2019

इस्कॉन मंदिर नागपुर में जन्माष्टमी उत्सव २४ अगस्त को .

संतरा नगरी नागपुर इस्कॉन मंदिर में इस्कॉन संस्थापकचार्य ए. सी. भक्तिवेदांत स्वामी श्रील प्रभुपाद के शिष्य श्रील लोकनाथ स्वामी महाराज की प्रेरणा से, हर वर्ष की भांति श्री कृष्ण जन्माष्टमी की तैयारियां जोर शोर से चल रही है . एम्प्रेस मॉल प्रांगण में स्तिथ इस्कॉन का श्री श्री राधा गोपीनाथ मंदिर के चारो और पंडाल और शामियाना लगाए जा रहे है . जन्माष्टमी का उत्सव इस्कॉन मंदिरो के लिए एवं इस्कॉन के भक्तो के लिए बड़ा विशेष महत्व रखता है .इस्कॉन के संस्थापक आचार्य ए.सी भक्तिवेदांत स्वामी श्रील प्रभुपाद जी का जन्मोत्सव एवं नंदोत्सव भी जन्माष्टमी के दूसरे दिवस दिनांक २५ अगस्त को मनाया जायेगा .

इस वर्ष इस्कॉन के भक्तों द्वारा अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन की तैयारियां चल रही है . “राधा कुंड एवं श्याम कुंड” नामक नाटिका ,साक्षी गोपाल नामक नाटिका , अधरम मधुरं कत्थक शैली का नृत्य ,प्रह्लाद विद्यालय के बच्चों द्वारा नृत्य एवं इस्कॉन भक्तों द्वारा ” हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे, हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे ” इस महामंत्र का सुमधुर हृदयस्पर्शी कीर्तन भगवन कृष्ण एवं उनके भक्तों के आनंद के लिए प्रस्तुत करने वाले है .

इस्कॉन मंदिर के अध्यक्ष श्रीमान गौर सुन्दर दास ने बताया की इस वर्ष जन्माष्टमी की रात्रि १००८ भोग अर्पण करने का संकल्प है .२४ अगस्त जन्माष्टमी को दिवस भर मंदिर में अखंड कीर्तन की योजना है ताकि सभी श्रद्धालु दर्शनार्थी एवं भक्तगण हरिनाम का आस्वादन कर सके . मध्यरात्रि से पहले श्रीमान गौर सुन्दर दास के द्वारा श्री कृष्ण के अवतरण की कथा श्रीमद भागवतम से सुनाएंगे एवं उसके पश्चात् मध्यरात्रि को दिव्य कीर्तन के साथ महा आरती होगी एवं उसके उपरांत सभी भक्तो के लिए महाप्रसाद की व्यवस्था की गयी है.

जन्माष्टमी के दूसरे दिन २५ अगस्त को इस्कॉन के संस्थापक आचार्य श्रील प्रभुपाद के १२३वि व्यास पूजा महोत्सव मनाया जाएगा .इस अवसर पर “व्यास पूजा पुस्तक” जो की श्रील प्रभुपाद को अर्पण करने हेतु एक वार्षिक अंक है इस पुस्तक का विमोचन किया जाएगा .२५ अगस्त को सुबह ९ बजे से भक्तो द्वारा वैष्णव भजन, श्रील प्रभुपाद का अभिषेक एवं श्रीला प्रभुपाद के शिष्य गौर सुन्दर दास जो की मंदिर के अध्यक्ष भी है इनके द्वारा श्रील प्रभुपाद के विषय में अपना प्रवचन प्रस्तुत करेंगे .

दोपहर १२ बजे भोग अर्पण होगा एवं उसके उपरांत सभी उपस्थित भक्तो के लिए महाप्रसाद वितरण किया जाएगा .
इस्कॉन प्रवक्ता डॉ. शयमसुन्दर शर्मा ने विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि दिनाँक २५ अगस्त को ही संध्या ७ बजे से इस्कॉन के आजीवन सदस्यों एवं दानदाताओ के लिए विशेष नंदोत्सव एवं प्रीतिभोज का कार्यक्रम का आयोजन किया है .इस कार्यक्रम में इस्कॉन भक्तो द्वारा विशेष भजन संध्या की प्रस्तुति होगी .