Published On : Tue, Nov 26th, 2019

छात्र की मौत के मामले में कॉज ऑफ़ डेथ का कारण आने के बाद ही स्थिति होगी स्पष्ट : एसपी ओला

नागपुर- पिछले हफ्ते जैन इंटरनेशनल स्कुल Jain International School ,Nagpur में पढ़नेवाले छात्र प्रणीश पाहुने Pranish Pahune की रहस्मय मौत हो गई थी. इसमें कई ऐसी अलग अलग अलग जानकारियां सामने आ रही है. स्कुल के अनुसार वह क्लासरूम में परीक्षा देकर आ रहा था. उस दौरान वह गिर पड़ा. जिसके बाद उसे स्कुल प्रशासन द्वारा उसे हॉस्पिटल ले जाया गया. लेकिन बच्चे मौत हो चुकी थी. इसमें स्कुल प्रशासन बोल रहा है की उसकी मौत परीक्षा देने के क्लासरूम के बाहर हुई. इस पुरे मामले में कई पहलुओ पर गौर करना होगा कि स्कुल प्रशासन और स्कुल के छात्र अलग अलग जानकारी क्यों दे रहे है.

मेयो प्रशासन ने पोस्टमॉर्टेम में देरी क्यों की.

Advertisement

जिस दिन उसकी मौत हुई. उसी दिन उसका पोस्टमॉर्टेम क्यों नहीं किया गया. पोस्टमॉर्टेम की रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं होने की वजह से उसकी फिर से जांच के लिए फिर लैब भेजा गया है. रिपोर्ट में हार्ट अटैक का जिक्र नहीं है. इसका मतलब बच्चे की मौत हार्ट अटैक से नहीं हुई है. फिर से उसे लैब भेजा गया है. जिसकी रिपोर्ट दो महीने बाद आएगी.इस रिपोर्ट के आधार पर ही खुलासा होगा कि बच्चे की मौत आखिर कैसे हुई और इसके बाद ही पुलिस आगे की जांच और कार्रवाई शुरू करेगी.

Advertisement

इस मामले ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक राकेश ओला ने जानकारी देते हुए कहा की पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट में कॉज ऑफ़ डेथ का कारण नहीं आया है. कॉज ऑफ़ डेथ का ओपिनियन उन्होंने रिज़र्व रखा है. जब तक कॉज ऑफ़ डेथ का ऑफिशियली कारण नहीं आता तब तक वे इस बारे में जानकारी नहीं दे सकते कि उसकी मौत कैसे हुई है. कॉज ऑफ़ डेथ का ऑफिशियली कारण आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी और उसके बाद ही आगे की जांच और कार्रवाई होगी.

जैन इंटरनेशनल स्कुल की प्रिंसिपल अनमोल बड़जात्या ने भी इस मामले में सीधे सीधे जवाब नहीं दिया. उन्होंने कहा की सीसीटीवी फुटेज हमने पुलिस को दे दी है. आप पुलिस से बात करिये और उसकी मौत का तमाशा मत बनाओ.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement