Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

    Nagpur City No 1 eNewspaper : Nagpur Today

    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Mar 25th, 2020

    वक्त है मानवता दिखाने का, मदद के लिए आगे आने का

    नागपुर– आज, पूरी दुनिया कोरोना जैसी गंभीर महामारी का सामना कर रही है, कई देश खुद को स्थिर रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. इस भयानक स्थिति को तो इटली, चिन जैसे देशों की खबरों को देखकर समझा जा सकता है जबकि वह देश उन्नत और विकसित देशों की श्रेणी में अग्रणी है, तो फिर ऐसी स्थिति मे विकासशील या अविकसित देशों का क्या हाल हो सकता है? यह विचार मन में आते ही शरीर कांप उठता है, वे देश तो अपना संपुर्ण अस्तित्व ही खो देंगे . ऐसे देशों की विकट स्थिति को देखते हुए, हमें सबक लेना चाहिए और सरकार द्वारा निर्देशित नियमों का सख्ती से पालन करना चाहिए क्योंकि सुरक्षा ही बचाव का तरीका है.

    देश में ऐसी गंभीर स्थिति को संभालना न केवल प्रशासन का कार्य है, बल्कि इसमे हम सभी नागरिकों की भागीदारी आवश्यक है, तभी इस संकटकालीन स्थिति को दूर किया जा सकता है, अब हम इंसानो को केवल इंसानियत दिखानी है . आज हमारे देश में कफ्र्यू, लॉकडाउन की स्थिति है, इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम सभी घर में ही रहें और कोरोना महामारी की बढ़ती श्रृंखला को तोड़ें . घर में ही सुरक्षित बने रखना भी एक समाजसेवा है.

    मदद के लिए आगे आएं :-
    देश की अधिकांश आबादी यह देहाडी मजदूरी, कामगार या छोटे-मोटे रोजमर्रा के कार्यों को करके जिवनयापन करते है ऐसे लोगो पर भूखे मरने की नौबत आ सकती हैं, उन्हें ऐसी स्थिति नहीं झेलनी पड़े, इसके लिए अब, कई राज्य प्रशासन ने सहयोग करने की घोषणा की है . कई संगठन इस कठिन समय के दौरान लोगों को मुफ्त भोजन, मास्क, चिकित्सा आपूर्ति वितरित कर रहे हैं . राजस्थान राज्य सरकार ने कोविड -19 राहत कोष बनाया है . जहां लोग मदद कर रहे हैं . नागपुर महामेट्रो ने भी एक दिन का वेतन दिया है और पेंशनरों ने भी ऐसा ही किया है . देश के सभी सरकारी विभागों को भी इस तरह की कार्रवाई पर अमल करना चाहिए . देश मे कर्मचारियों और श्रमिकों की इन दिनो बिकट परिस्थिति की गंभीरता को देखते हुए, निजी कंपनियां और उद्यमीयों ने उनके वेतन में कटौती नहीं करना चाहीये.

    दुनिया भर के अमीर दानदाता ने धन जुटाया :-
    बिल गेट्स, अलीबाबा फाउंडेशन, अमेजॅन, ऐप्पल, अंतर्राष्ट्रीय खेल संगठन, खेल प्रतिनिधि, पॉप स्टार, अमीर उद्योगपति, फैशन वल्र्ड और अन्य लोग इस वैश्विक महामारी में मदद के लिए आगे आए हैं और अरबो रुपए का फंड बनाया है . वैसे भी, विदेशों में बाढ़, जंगल की आग या किसी अन्य प्रकार की प्राकृतिक आपदा की स्थिति में, सेलिब्रिटी खेल हस्तियां और मशहूर हस्तियां, मदद के लिए सामने आते हैं और यही मानवता है जो समाज को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक है.

    लेकिन हमारे देश में दानदाता की स्थिती अलग क्यों ? :-
    आज, भी हम महामारी की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं कि हमारा भविष्य कितना भयानक हो सकता है . देश में वेदांत इंडस्ट्री, हिंदुस्तान यूनिलीवर ने 100 करोड़ और आनंद महिंद्रा ने वेंटिलेटर बनाने जैसे देश के कल्याण के लिए लोग इस मुसीबत के समय आगे आए हैं, लेकिन देश के सेलिब्रिटी, करोड़पति खेल के प्रतिनिधि विशेषकर क्रिकेटर्स, बड़े अरबपति नेता अभिनेता, उद्यमीयों ने आगे आने और प्रशासन को वित्तीय सहायता करने की बहुत ही जरूरत हैं . आज, देश की जनसंख्या 1,37,63,60,251 को पार कर गई है और यहाँ अमीरी-गरीबी का अंतर भी बहुत बड़ा है . अर्थव्यवस्था के मद्देनजर, देश में आधे से ज्यादा पैसा चंद अरबपति और करोड़पति लोगों के पास है . ऐसे मे अब लोगो से कमाया हुआ पैसा, लोगो के सहायता मे थोडासा देना है क्योंकि यही वक्त है हमे अपने देश की स्थिती को संभालने की . अगर यह वक्त संभल गया तो हम बहुत बडी संकट की घडी को टाल पायेंगे.

    नासमझी और लापरवाही छोडे :-
    आज देश के बहुत सारे लोग अपनी लापरवाही के चलते देश को डुबोने पर लगे है, चंद लोगो की गलती की सजा अब देश को चुकानी पड़ रही है और पड सकती है, यह एक गंभीर अपराध है, लेकिन कई लोग सोच रहे हैं कि कोरोना हमारा क्या करेगा? हमे कुछ नहीं होगा, बिना किसी सावधानी के लोग अभी भी घूमते रहते हैं, झुंड बनाते हैं, समाज में लोगों को इकट्ठा करते हैं, सोसायटियों मे हुजूम बनाते हैं, गलियों में मिलते हैं, पाबंदी के बावजूद घर से बाहर निकलकर पुलिस के साथ बहस करते हैं . ऐसी सभी गतिविधीयों पर पूरा नियंत्रण होना बहुत आवश्यक है . हमने पुलिस और जीवनावश्यक सुविधाओं में शामिल कर्मचारियों को पूर्ण सहायता करना, यह हमारी जिम्मेदारी हैं . घर में आवश्यक वस्तुओं का भंडारण न करें, दुकानदार भी उचित मूल्य लेकर चीजों को बेचे, ना कि इस कठिन समय में जनता को लूटे . अपने देश के वर्तमान परिस्थिती की गंभीरता समझें, संयम बरते, घर पर रहें और अपने देश, समाज, परिवार के भविष्य की सुरक्षा के लिए सरकारी नियमों का पालन करें.

     

    डॉ. प्रितम भि. गेडाम

    मोबाइल नं. 082374 17041

    prit00786@gmail.com

     

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145