Published On : Sat, Sep 15th, 2018

गॉर्ड लाइन मार्ग पर जमा कबाड़ दे रही दुर्घटनाओं को निमंत्रण

नागपुर: न्यायालय के आदेश पर अधिकृत सड़क किनारे अतिक्रमण-धार्मिक अतिक्रमणों पर कार्रवाइयों का सिलसिला लगातार जारी है. वहीं दूसरी ओर गॉर्डलाइन, मोमिनपुरा, गांधीबाग आदि इलाकों में अतिक्रमण का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रही. यहां यातायात पुलिस समेत मनपा का अतिक्रमण विभाग कार्रवाइयों पर न केवल ढील दे रखी है बल्कि अतिक्रमण करनेवालों को शह भी दे रही है. इस साँठगाँठ का खामियाजा मार्ग से गुज़रनेवाली ट्राफिक को उठाना पड़ता है, जिससे राहगीरों में प्रशासन के प्रति नाराज़गी बढ़ते जा रही है.

अब नागरिक इन विभागों से तत्काल कार्रवाई की मांग कर रहे हैं, अवाम की आवाज़ पर ध्यान न देने पर आंदोलन करने की भी चेतावनी दे रहे हैं.

ज्ञात हो कि यातायात पुलिस पिछले डेढ़ वर्ष से मुख्य जिम्मेदारी छोड़ सिर्फ हेलमेट की कार्रवाई में जुटी है. वहीं मनपा अतिक्रमण विभाग नफा न होने पर अतिक्रमण हटाने पर जोर दे रहा है. इस सन्दर्भ में मनपा की आमसभा में सत्तापक्ष की ओर से पूर्व महापौर ने भी सवाल खड़ा किया था. यातायात पुलिस की भूमिका हमेशा से ही संदिग्ध रही है.

गार्डलाइन,गांधीबाग,इतवारी,मोमिनपुरा से गुजरने वाली सड़कें अतिक्रमणकारियों की वजह से संकीर्ण हो गई है. आवाजाही करने वाले इस मार्ग पर कड़ी कश्मकश करते दिखाई देते हैं. वहीं जब इन मार्गों से कोई वीवीआईपी गुजरने वाला होता है तो उक्त दोनों विभाग के आला अधिकारी इन मार्गों पर गश्त लगाते नज़र आते हैं लेकिन अतिक्रमण फिर भी जस का तस बना रहता है. ऐसे में सवाल उठता है, क्या उक्त दोनों विभाग की इन अतिक्रमणकारियों से सांठगांठ है.

गांधीबाग परिसर के अग्रसेन चौक से लेकर अशोक चौक तक के मार्ग के दोनों किनारे फुटपाथ पर सड़क किनारे दुकानदार सहित पुराने दोपहिया वाहन विक्रेताओं का कब्ज़ा आज तक क़ायम है. गार्डलाइन के कबाड़ में विस्फोट होते रहते हैं, जो कभी भी खतरे का सबब बन सकता है.