Published On : Wed, Dec 17th, 2014

आमगाँव : वाहन चोरों की अंतर्राज्यीय गिरोह के सदस्य पकड़ाये

 

  • विभिन्न जगहों से 14 दुपहिये जब्त
  • आमगाँव पुलिस को ढूंढ निकालने में मिली सफलता
  • खुल सकते हैं और राज़

Bike Lifter arrested
आमगाँव (गोंदिया)। जिले में सक्रिय वाहन चोरों की एक टोली बड़ी संख्या में वाहनों को चुराकर अन्यत्र ले जाने से पुलिस के समुख एक बड़ी चुनौती खड़ी हो गई थी. उस टोली की खोज़ में जुटी आमगाँव पुलिस ने सदस्यों को पकड़ कर उनसे 14 मोटर साइकिलें जब्त की. इससे परत-दर-परत मामले की पेंचें सुलझती नजऱ आ रही हैं.

बता दें कि आमगाँव तालुका व जिले के विभिन्न क्षेत्रों से वाहन चोरों का एक गिरोह दुपहिये चोरी कर पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में बिक्री कर देते थे. आमगाँव के व्यापारी विजय अशोक अग्रवाल की दुपहिया शंकर सलून के सामने रखी थी, जिसे नकली चाबी की सहायता से खोल कर चुरा ली गई. इस वाहन चोरी की जाँच में जुटी पुलिस को उक्त गिरोह को पकडऩे में सहायता मिली. पूछताछ के बाद राज फाश हो गया. उक्त मामले का आरोपी दीपक नारद खरे (18), खजरी ग्राम, पु. पिपरिया, तहसील खैरागढ़, जिला राजनांदगाँव, छत्तीसगढ़ है, जिसे 8 दिसम्बर को गिरफ़्तार किया गया. आरोपी के खिलाफ भादवि की धारा 379 अंतर्गत मामला दर्ज कर आगे की जाँच की जा रही है. उक्त आरोपी ने दुपहिया चारों की टोली सक्रिय होने की जानकारी दी.

इससे पूर्व मामले की जाँच कर रहे उपविभागीय अधिकारी अजय देवरे के मार्गदर्शन में पथक तैयार कर पुलिस निरीक्षक बी.डी. मडावी, उपनिरीक्षक सचिन पवार, हवलदार निलुवैस खेमराज खोब्रागड़े, विनोद बरैया, देवचंद सोनटक्के ने कार्यवाही कर छत्तीसगढ़ राज्य के विभिन्न ठिकानों से 14 दुपहिये जब्त किए. मामले में आरोपी के भाई विनोद साधुराम मच्छिरके उर्फ भरकरे (21), टेकापार, पु. पिपरिया, राजनांदगाँव, छत्तीसगढ़ को गिरफ्तार करने में सफलता मिली. इससे पता चला है कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ वाहन चोरों का मुख्य गढ़ है.