Published On : Tue, Aug 11th, 2020

कोरोना का बढ़ा कहर, किस पर करें विश्वास

corona-4-1.jpg

नागपुर -आज कन्नमवार नगर निवासी ज्येष्ठ नागरिक 74 वर्षीय श्रीमती ज्योति खटी घर में फिसल कर गिर गई उसे इलाज के लिए आर्थोपेडिक सर्जन डॉक्टर सुब्रमण्यम अय्यर के पास परिजन ले गये डाक्टर ने उसे कोरोना टेस्ट करवाने के निर्देश दिए वह महिला ध्रुव लेबोरेटरी में गयी जहां उसकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पाज़िटिव आई

परंतु उसके परिजनों को वह रिपोर्ट मंजूर नहीं थी कारण वह महिला बिल्कुल भी घर से बाहर नहीं निकलती थी एवं अनेक दिनों से किसी बाहरी व्यक्ति के संपर्क में भी नहीं थी, इसलिए परिजन उसे दुसरी लैब ” सुविश्वास “में उसे टेस्ट हेतु ले गए और वहां उसकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई परिजनों को खुशी तो हुई परंतु मन में भ्रम भी उत्पन्न हो गया कि सही रिपोर्ट क्या है परंतु महानगर पालिका ने तत्परता दिखाई और उस परिसर को सील कर दिया जहां पेशंट ज्योती खटी का निवास है । उसी के पड़ोस में मनपा की पूर्व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ भावना सोनकुसले का निवास है।


एक सचेत नागरिक की जागरूकता से यह गलती उजागर हुई समझ में नहीं आ रहा यह तांत्रिक त्रुटि है या प्रायवेट लैब का गोरखधंधा निगम आयुक्त इस घटनाक्रम की तुरंत जांच कराते दोषी को दंडित करे एवं समाज में विज्ञान पर विश्वास कायम रखने का विश्वास मनपा प्रशासन दिलाये.
त्वरित कार्रवाई की अपेक्षा भाजपा के वरिष्ठ नगरसेवक दयाशंकर तिवारी ने की हैं।