Published On : Tue, Sep 1st, 2020

आरटीई प्रवेश के लिए दिया गया आय प्रमाण पत्र तहसीलदार द्वारा अवैध

ऑललाइन पंजीयन की तिथि 15 सितंबर तक बढ़ी :आरटीई एक्शन कमेटी

नागपुर :मुफ़्त शिक्षा के अधिकार अंतर्गत प्रवेश पाने के लिए दस्तावेजों की जाँच करने के लिए समिति स्थापित की गई है माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार,समिति द्वारा प्रत्येक आवेदन को गंभीरता से जाँच करने का कार्य किया गया है जिसमें मोहम्मद शाहिद शरीफ़ चेयरमैन आर टी ई एक्शन कमेटी तथा सदस्य वेरिफ़िकेशन कमिटी के माध्यम से “सत्यप्रकाश एस गुप्ता “नामक पालक का आय प्रमाण पत्र जिलाधिकारी कार्यालय अंतर्गत नायब तहसीलदार के माध्यम से जानकारी लेने पर बोगस साबित हुआ है और कार्यालय ने पत्र जारी करके जानकारी उपलब्ध कराई है

इसी के माध्यम से शालाओं के प्राध्यापक मुफ़्त शिक्षा के अधिकार अंतर्गत दिए गए प्रवेश के दस्तावेजों को गंभीरता से जाँचे और मूल परत को देखकर ही प्रवेश आवेदन को जाँच समिति के सामने प्रस्तुत करें ।

Bogus income certificate verified by Thasildar inquired by MD SHAHID SHARIF CHAIRMAN RTE ACTION COMMITTEE

इसी प्रकार जाति प्रमाण पत्र भी पालकों द्वारा प्रवेश पाने के लिए बोगस दिए गए हैं जाँच में पता चला है कि कार्यालय में इसका कोई पंजीयन नहीं है।आरटिई एक्शन कमेटी द्वारा शिक्षक संचालक प्राथमिक को तिथि बढ़ाने की सिफ़ारिश की गई थी ,उनके माध्यम से जानकारी के अनुसार ऑनलाइन की थी 15 सितंबर तक बढ़ा दी गई है।