Published On : Thu, Jun 1st, 2017

किसानों के काम बंद आंदोलन में विदर्भ के किसानों ने भी लिया हिस्सा

Farmers strike

File Pic

नागपुर:अपनी विभिन्न माँगो को लेकर राज्य के किसान गुरुवार से राज्यव्यापी हड़ताल पर है। आजादी के बाद शायद यह पहला मौका है जब 24 घंटे मेहनत और काम करने वाले किसानों ने एकत्रित होकर कामबंद करने का ऐलान किया हो। किसानो से जुड़े विभिन्न संगठनो ने किसानो से जुडी कई माँगो को लेकर इस आंदोलन का आगाज़ किया है। इस बंद का असर पहले ही दिन से दिखाई भी पड़ने लगा है विदर्भ के किसान भी इस आंदोलन से जुड़कर अपनी आवाज बुलंद कर रहे है।

वैसे तो इस आंदोलन में कई मुद्दे शामिल है लेकिन प्रमुख रूप से संपूर्ण रूप से कर्ज मुक्ति,बिजली के बिल में छूट और उत्पादन शुल्क से फ़सल को दोगुना भाव देने की माँग अहम है। आंदोलन के तहत विदर्भ में कई जगह आंदोलन और प्रदर्शन हुए। किसानो ने अपनी सब्जी,फसल और दूध को सड़क में फेंक का प्रदर्शन किया। विदर्भ के लगभग सभी जिलों में प्रदर्शन हुआ और तहसीलदारों को निवेदन सौपा गया। विदर्भ राज्य आंदोलन समिति और शेतकरी संगठन ने भी प्रदर्शन कर किसानो के लिए राज्य सरकार से न्याय की माँग की।