| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Jun 19th, 2017
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    आवास योजना के नाम पर जनता से ठगी का शहर में शुरू गोरखधंधा

    Pradhanmantri awas yojna
    नागपुर
     : प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर जनता की लूट का गोरखधंधा इन दिनों नागपुर में शुरू है। कई लोग खुद को सरकारी एजेंट बताकर बस्तियों में टेबल लगाकर आवास योजना का फॉर्म भराने में लगे है। इस काम के लिए बाकायदा जनता के अँगूठे का निशान भी लिया जा रहा है और उनसे पैसे भी वसूल किये जा रहे है। कई बिल्डर,नेट कैफ़े के मालिक और प्राईवेट लोग इस गोरखधंधे को अंजाम देकर जनता को फ़सा रहे है। नागपुर महानगर पालिका ने जनता से ऐसे लोगों से बचने की सलाह दी है और शिकायत करने के लिए कहाँ है। जो लोग भी इस काम में लगे है वो ऐसे इलाकों का चयन कर रहे है जहाँ की जनता का जीवनस्तर सामान्य से काम हो और शिक्षा का स्तर भी कम हो, शहर के कई भागों में स्टॉल लगाकर लोगों से आवास योजना के फॉर्म भराये जाने का काम शुरू है। जो लोग फॉर्म भर रहे थे उनसे बाकायदा 100 रूपए तक वसूला जा रहा था जबकि जनता को सिर्फ 28 रूपए 75 पैसे की स्लिप दी जा रही थी।

    फॉर्म भरवाने वाले व्यक्ति को नहीं पता किस हक़ से वो काम कर रहा
    शहर की काचीपुरा बस्ती में शुरू आधार स्टॉल का नागपुर टुडे ने भी जायज़ा लिया। यहाँ हमें देखने को मिला कि जो शख्स लोगो का फार्म भारवा रहा था उसने बताया की वह सीएससी यानि की कॉमन सर्विस सेंटर स्कीम का एजेंट है उसने यह भी बताया कि फॉर्म भरने के अलावा उसे 8 रूपए टैक्स लगते है और अगर कोई नेट कैफ़े में जाकर फॉर्म भरे तो उसे भी 100 रूपए का ख़र्चा आता है। साथ में उसकी रोजी 300 रूपए हर दिन है ऐसे में अगर फॉर्म भरने के लिए 100 रूपए लिए जा रहे है तो इसमें कुछ गलत नहीं है उससे बार बार पूछने पर भी वह यह नहीं बता पाया की यह काम करने के लिए उसे अधिकार किसने दिया है।

    फॉर्म भरवाने वालों से मनपा का कोई लेना देना नहीं – आवास योजना अधिकारी
    वही शहर में शुरू इस तरह के काम की जानकारी लेने के लिए नागपुर महानगर पालिका द्वारा नियुक्त आवास योजना विस्तार अधिकारी संजय बंगाले से संपर्क करने पर उन्होंने इस तरह के काम को ग़ैरक़ानूनी क़रार दिया। संजय के मुताबिक कोई भी व्यक्ति अगर इस संबंध में उनसे शिकायत करता है तो वह फॉर्म भरवाने वाले लोगों पर कार्यवाही कर सकते है साथ ही पुलिस में मामला भी दर्ज कराया जा सकता है। उन्होंने जनता से अपील कि है की कोई भी व्यक्ति अपने निजी कागज़ात किसी को भी न सौंपे। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए आधिकारिक तौर पर महानगर पालिका ,नागपुर सुधार प्रन्यास और म्हाडा नियुक्त है। योजना के लिए महानगर पालिका ने बाकायदा ऑनलाइन फॉर्म भरवाने के लिए अभियान चलाया था अगर अभी भी किसी को योजना के संबंध में जानकारी चाहिए तो वह मनपा के अधिकारी, अपने नगरसेवक और ज़ोन ऑफिस से जानकारी ले सकता है। लोगों से किस तरह के फॉर्म भरवाये जा रहे है इसकी मनपा को किसी तरह की जानकारी नहीं है। फॉर्म सही भी है या नहीं यह भी पता नहीं और इस फॉर्म को भरने के बाद लोगों को योजना का लाभ मिलेगा भी या नहीं यह भी नहीं बताया जा सकता।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145