Published On : Mon, Mar 19th, 2018

अवैध होर्डिंग, पोस्टर के साए में चौराहे


नागपुर: नागपुर महानगरपालिका की ‘ऑउटडोर’ विज्ञापन नीति इतनी सख्त है कि नियमों का पालन करें तो मनपा को नियमित आय के साथ ही साथ शहर को बदसूरती से बचाने का आसान और बड़ा ज़रिया बनाया जा सकता है. दरअसल शहर का प्रशासनिक महकमा ही नहीं चाहता कि शहर स्वच्छ व साफ़-सुथरा दिखे, इनके दबाव में मनपा के खाकीधारी कार्रवाई करने के बजाय मुंह फेर ग़ैरक़ानूनी कामों को बढ़ावा दे रहे हैं.

शहर में एक दर्जन से अधिक बाज़ारू इलाके हैं, इसके अंतर्गत दो दर्जन से अधिक चौराहे हैं. इसके अलावा लगभग प्रत्येक प्रभाग में ४-५ ऐसे चौराहे हैं, जहां गर्दी के लिए मशक्कत करने की जरूरत नहीं पड़ती हैं. ऐसे सभी चौराहों पर स्थानीय सफेदपोशों और स्थानीय वजनदार छवी के नागरिकों के स्वागतार्थ व तीज-त्यौहार में खुद का वजूद दिखाने के चक्कर में चौराहों को छोटे-बड़े बैनर, होर्डिंग व पोस्टर से लबरेज करते आ रहे हैं.

इन्हीं लापरवाहियों पर लगाम लगाने के उद्देश्य से मनपा ने ‘ऑउटडोर विज्ञापन नीति’ का निर्माण किया था. इस नीति-नियमावली के पालन के लिए मनपा में तब सक्षम अधिकारी हुआ करते थे, जिन्हें विज्ञापन जैसे विषयों की समझ हुआ करती थी.

जब से मनपा प्रशासन ने विज्ञापन विभाग को स्वतंत्र विभाग के रूप में अलग किया, तब से मनपा प्रशासन का अवैध होर्डिंग, पोस्टर, बैनर मामले में लगाम न के बराबर रह गया. विभाग में तैनात कर्मी ‘कंबल ओढ़ कर घी पी रहे’ हैं. मनपा प्रशासन ने अवैध पर लगाम लगाने के लिए सभी ज़ोन को अधिकार दे दिए हैं और अमूमन सभी ज़ोन मनपा मुख्यालय से काफी दूर-दूर होने से मुख्यालय स्थित विज्ञापन विभाग को भनक ही नहीं लगती कि कहां-कहां होर्डिंग लग रही है. विज्ञापन विभाग के पास उड़न दस्ता भी नहीं हैं, जो शहर का भ्रमण कर अवैध होर्डिंग, बैनर, पोस्टर लगने पर कार्रवाई कर सके.


‘ऑउटडोर विज्ञापन नीति’ के खिलाफ लगे होर्डिंग की कई जानकारी तत्कालीन विज्ञापन विभाग प्रमुख स्मिता काले को नियमित मिलती रही है, वे भी मामला सम्बंधित जोन पर धकेल अपना पल्ला झड़कते रहे. ज़ोन कार्रवाई करने के बजाय शिकायतकर्ताओं की जानकारी अवैध होर्डिंग, पोस्टर, बैनर लगाने वालों देते रहे और मनपा की ओर से होने वाली कार्रवाई के बजाय शिकायतकर्ताओं के मुख बंद करवाया जा रहा है. इससे मनपा को आर्थिक नुकसान और शहर की सुंदरता पर दाग लगना लाजमी हैं.

आलीशान होटल ने अवैध होर्डिंग लगाकर फुटपाथ घेरा
रामदासपेठ स्थित होटल सेण्टर पॉइंट होटल ने अपने मुख्य द्वार के एक किनारे अपने दूसरे प्रतिष्ठान का होर्डिंग लगाकर फुटपाथ घेर लिया,इससे फुटपाथ का इस्तेमाल कर आवाजाही करने वालों को दिखात आ रही हैं.इतना ही नहीं होटल के मुख्य द्वार के सामने फुटपाथ को समतल कर होटल में आने वाली वाहनों की पार्किंग के लिए इस्तेमाल किया जा रहा.इस सन्दर्भ में स्मिता काले को जानकारी दी गई थी,लेकिन उन्होंने प्रत्यक्ष मुआयना कर कार्रवाई के बजाय जोन पर धकेल दिया.