Published On : Thu, Apr 2nd, 2015

वरोरा : शराबबंदी के दूसरे दिन अवैध शराब बिक्री

Fadanvis & Mungantiwar & nana Shamkule
वरोरा (चंद्रपुर)। जिले में शराब बंदी की घोषणा होने के बाद अवैध शराब बिक्रेताओं ने शराब का स्टाक जमा करके दूसरे ही दिन डबल दाम में अवैध तरीके से शराब बिक्री शुरू की है. शराब बिक्रेता डबल दाम में शराब बेचकर शराबियों की प्यास बुझा रहे है. शराब बंदी की घोषणा होने के बाद 31 मार्च को शराब बिक्रेताओं ने शाम 5 बजे अपनी दुकाने बंद की. इस दौरान शराब के लिए शराबी लोग भटक रहे थे. लेकिन शराब का स्टॉक बिक्रेताओं ने 31 मार्च की रात को शराब की बिक्री नही की. लेकिन दूसरे दिन 1 अप्रैल को शराब जमा करके रखने वाले बिक्रेताओं ने अवैध शराब बिक्री का काम शुरू किया है. शराब की एक बॉटल की किमत डबल लेकर शराबियों का शौक पूरा करने का प्रयास कर रहे है. शराब बिक्रेताओं ने दूकान का शराब का स्टॉक खत्म हो गया ऐसा घोषित किया है. लेकिन शराबबिक्रेता व बार रेस्टॉरंट के मालिकों ने शराब का स्टॉक गावों में भाड़े से रूम करके जमा करके रखा है.

उस स्टॉक से नौकर के हाथों शराबी ग्राहकों को शराब पहुचाने का काम शुरू किया है. कुछ बार में ”रेस्टॉरंट शुरू रखकर खाना खाओ, आपको शराब हम देंगे” ऐसी घोषणाएं शुरू की है. रेस्टॉरंट में जो परिचित व्यक्ती खाना खाने जा रहा है उसे गुप्त तरीके से उस रेस्टॉरंट में विभिन्न जगह शराब पिने देते है. शराबबंदी होने के बावजूद शराब बिक्रेताओं की मनमानी ख़त्म नहीं हुई है. इस पर पुलिस विभाग व शराब उत्पादन शुल्क विभाग क्या कार्रवाई करती है इसकी ओर सबका ध्यान लगा हुआ है.

9 पेटियां शराब जब्त
बल्लारपुर : तालुका के विसापुर के वॉर्ड क्र. 5 में एक मकान में शराब का स्टॉक होने की गुप्त जानकारी पुलिस को मिलते ही पुलिस ने मकान पर छापा मारकर शराब जब्त की. यह कार्रवाई बल्लारपुर थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक ए. टी. राठोड के मार्गदर्शन में बुधवार (1 एप्रिल) को दोपहर 2:50 बजे के करीब की गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार विसापुर के वॉर्ड क्र. 5 में पठाण के मकान के समीप एक बंद मकान में अवैध शराब का स्टॉक होने की गुप्त जानकारी पुलिस को मिली. जानकारी के आधार पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच की. पश्चात पठाण के मकान पड़ोस में एक बंद मकान दिखा. उक्त घर मालिक के बारें में पूछताछ करने पर यह मकान पड़ोस में रहनेवाले फरजाना अब्दुल वाजीद शेख का है. उसने डेढ़ वर्ष पूर्व बल्लारपुर के व्यंकटी राजन मच्छा को बेचा था. उससे संपर्क करने पर संपर्क नहीं हो सका. इस वजह से पुलिस ने गाव के सरपंच बंडू गिरडकर व शंकर मुरसकर को पंच के तौर पर घटनास्थल पर बुलाया. उनके  समक्ष मकान के कवेलू निकालकर मकान में देखने पर उस जगह पुलिस को शराब की पेटियां दिखाई दी. इस वजह से पुलिस ने मकान का ताला तोड़कर मकान में प्रवेश किया. मकान के एक कोने में 9 शराब की पेटियां मिली. उक्त पेटियों में रॉकेट संत्रा 180 एम.एल. की देशी दारु से भरी सिलबंद बॉटल मिली. हर पेटी में 48 बॉटल ऐसी 9 पेटियों में 432 शराब की बॉटल मिली. यह सब 43 हजार 200 रुपये की शराब पुलिस ने जब्त करके आगे की जांच कर रही है.