Published On : Fri, Sep 26th, 2014

आरमोरी : मानव समाज को बुद्ध के विचारों की जरूरत – भोलूदादा सोमनानी

Bholudada Somnani
आरमोरी (गडचिरोली)। 
सृष्टि के इस भूस्थल पर मानव समाज को अत्यंत महत्व दिया गया है. सभी प्राणिमात्रों से बढ़कर मनुष्य सर्वश्रेष्ठ है. मानव ने नए संशोधन करके भौतिक सुखों को अपनी जरुरत बना लिया जिससे मानव-मानव में स्पर्धा निर्माण हुयी है. मानव के जैसे ही देश-देश में विकास और विस्तार की प्रतिस्पर्धा शुरू है. लेकिन इससे मुक्त होने के लिए भगवान बुद्ध ने दिए उपदेश को स्वीकार कर उसका पालन करके भविष्य में होने वाली हानि से निपटा जा सकता है. आज बुद्ध के विचारों की समस्त मानव समूह को जरुरत है ऐसा प्रतिपादन समाज सेवक भोलुदादा सोमनानी ने मौजा चामोर्शी माल, भगवान बुद्ध का धर्म प्रवर्चनार्थ आयोजित कार्यक्रम के उद्घाटन में किया. कार्यक्रम के अध्यक्ष स्थान पर चामोर्शी माल के उपसरपंच विलासराव मेश्राम थे. इस दौरान प्रमुख वक्ता पत्रकार भीमराव ढवले, प्रलय सहारे, रोहिदास बोडोले, पं.स.स. नानुभाऊ चुधरी, पो.पा.भाऊराव राउत उपस्थित थे.

कार्यक्रम का प्रास्ताविक भीमराव ढवले ने किया. संचालन कामचंद ढवले ने किया. कार्यक्रम का आयोजन भीमशक्ति समता विकास मंडल तथा बौद्ध समाज चामोर्शी माल ने किया. 23 सितंबर से 5 अक्टूबर तक रोज शाम को धम्म ग्रंथ का वाचन किया जायेगा.