Published On : Tue, Jan 16th, 2018

जो व्यक्ति सुरक्षा घेरे में रहता है उसका एनकाउंटर कैसे हो सकता है – मा गो वैद्य

MG Vaidya
नागपुर: प्रवीण तोगड़िया द्वारा उनका एनकाउंटर करने को लेकर उठाए गए संदेह पर आरएसएस के पूर्व प्रवक्ता मा गो वैद्य ने सवाल खड़े किये है। तोगड़िया और वैद्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से ही जुड़े है ऐसे में सवाल उठता है की किसके संदेह को सच माना जाए। वैद्य का कहना है जब तोगड़िया को विशेष सुरक्षा हासिल है तो ऐसे में उनका एनकाउंटर भला कैसे हो सकता है उन्होंने जो कहाँ उसके पीछे की सही जानकारी वही दे सकते है। सोमवार को विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष प्रवीण तोगडिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घंटो गायब हो जाने के रहस्य पर सनसनीखेज खुलसा किया था। तोगड़िया ने उनका एनकाउंटर होने और केंद्रीय ख़ुफ़िया एजेंसियों द्वारा लगातार निगरानी किये जाने की बात कही थी।

वैद्य के मुताबिक किसी एक मामले में न्यायालय के आदेश पर उन्हें पकड़ने पहुंची पुलिस कैसे उनका एनकाउंटर कर सकती थी। जो पुलिस किसी को पकड़ने आयी वो उसका एनकाउंटर कैसे कर सकती है। केंद्रीय गुप्तचर संस्था आईबी पर भी एनकाउंटर के षड़यंत्र का आरोप तोगड़िया द्वारा लगाया गया था इस पर वैद्य ने कहाँ की उनका एनकाउंटर कैसे हो सकता है। वह हमेशा सुरक्षा घेरे में रहते है। राजस्थान की पुलिस न्यायालय के आदेश पर तोगडिया को गिरफ्तार करने पहुंची थी। वैद्य के अनुसार इस मामले में तोगड़िया स्वयं ही बता सकते है कि क्या हुआ और हो रहा है। या फिर राजस्थान के मुख्यमंत्री या गृहमंत्री भी कुछ बता सकते हैं। इस मामले के बाद अब उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को देखना चाहिए था कि वह अकेले कहीं ना जाये।

नेता के साथ हुई घटना पर संगठन की ठोस भूमिका अभी तय नहीं
खास है की छोटी-छोटी बातों को लेकर आक्रामक रुख रखने वाले बजरंग दल के कार्यकर्त्ता अपने सबसे बड़े नेता के साथ हुए गंभीर वाकये जिसका खुलासा स्वयं तोगड़िया ने किया है। उस पर बोलने से बच रहे है। हालाँकि तोगड़िया द्वारा लगाए गए आरोप के बाद अब संगठन की राष्ट्रीय समिति द्वारा आने वाले कुछ दिनों में बैठक लेकर अपनी भूमिका तय करने वाला है। यह बैठक कब होगी यह भी अभी तय नहीं है।

कौन करना चाहता है एनकाउंटर साफ करे तोगड़िया -प्रकाश आंबेडकर
भारिप बहुजन महासंघ के अध्यक्ष व डॉ. बाबासाहब आंबेडकर के पौत्र प्रकाश आंबेडकर ने कहा है कि यह मामला गंभीर है तोगडिया को यह बताना चाहिए की कौन उनका एनकाउंटर करना चाहता है। देश की कौन सी एजेंसी है जो उनके एनकाउंटर की योजना बना रही है। ऐसा तो नहीं कि 2019 के चुनाव को लेकर पृष्टभूमि तैयार की जा रही है।