Published On : Sat, Mar 21st, 2020

भारत में कोरोना वायरस के चलते सभी अस्पतालों को तैयार रहने के सरकारी निर्देश

केंद्र सरकार ने कोरोना को देखते हुए शुक्रवार को एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें उसने सभी अस्पतालों और मेडिकल एजुकेशन इंस्टीट्यूशंस से कहा है कि वह कुछ बेड अलग करें और आइसोलेशन सुविधा देने के लिए तैयार रहें . सरकार ने ये एडवाइजरी सरकार और निजी दोनों ही तरह के अस्पतालों के लिए जारी की है . सरकार ने कहा है कि अस्पताल पर्याप्त संख्या में वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध कराएं, हाई फ्लो ऑक्सीजन मास्क भी तैयार रखें और कोविड-19 से लड़ने के लिए पर्याप्त स्टाफ भी तैयार रखें.

अभी तीसरे चरण में नहीं पहुंची महामारी

ये नई एडवाइजरी ये देखते हुए सामने आई है कि कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं . हालांकि, अभी भी इन मामलों में बहुत अधिक तेजी नहीं आई है . एडवाइजरी दिखाती है कि सरकार उस स्थिति के लिए तैयार रहना चाहती है कि अगर मरीजों की संख्या काफी अधिक बढ़ जाए तो क्या होगा . हालांकि, अभी तक कोई भी कम्युनिटी स्प्रैड का मामला सामने नहीं आया है, जो किसी भी महामारी का तीसरा चरण होता है .


टेस्टिंग प्रोटोकॉल से हटकर भी हो सकते हैं टेस्ट

अस्पतालों को कहा गया है कि वह किसी भी ऐसे मरीज को वापस ना भेजें, जो कोविड-19 का संदिग्ध है और उसे भर्ती करने की सूचना तुरंत दें . साथ ही हर न्यूमोनिया मरीज के बारे में भी सूचना जरूर दें . इन सभी मरीजों का कोविड-19 का टेस्ट किया जा सकता है . बता दें कि अब तक सरकार का टेस्टिंग प्रोटोकॉल सिर्फ उन लोगों तक सीमित था, जिन्होंने कोई विदेश यात्रा की हो या फिर ऐसे किसी शख्स से संपर्क में आए हों.

दुनिया भर में कोरोना का कहर

अब तक पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने करीब 2.7 लाख लोगों को संक्रमित कर दिया है . वहीं दूसरी ओर इसकी वजह से मरने वालों की संख्या 11 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है . इटली की हालत इन दिनों सबसे अधिक खराब है, जहां चीन से भी अधिक मौतें हो चुकी हैं . बता दें कि इटली में 47 हजार से भी अधिक लोग संक्रमित हैं और 4 हजार से भी अधिक की मौत हो चुकी है . बता दें कि भारत में अब तक 250 से भी अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और मरने वालों की संख्या 4 हो चुकी है.