Published On : Mon, Mar 2nd, 2020

हीराबाई भास्कर को किया सन्मानित

नागपुर : वयोवृद्ध हीराबाई भास्कर को रविवार को धनलक्ष्मी बचत गट ने इतवारी शहीद चौक स्थित श्री. पार्श्वप्रभु दिगंबर सैतवाल जैन मंदिर के बाहुबली भवन सभागृह किया.

मुलत: खापरखेडा की रहनेवाली वयोवृद्ध हीराबाई पुनाजी भास्कर जैन धर्म से प्रभावित हुई उन्होने धार्मिक चैनल पर जैन संतों के धर्म संदेश सुनकर अपने जीवन मे प्रत्यक्ष आचरण मे लाया. क्रांतिकारी राष्ट्रसंत आचार्यश्री तरुणसागर जी, आचार्यश्री पुलकसागर जी, आचार्यश्री विशुद्धसागर जी के विचारों का प्रभाव उनके उपर हुआ.

श्रीमती भास्कर ने जैन धर्म के अनेक तीर्थ सम्मेदशिखरजी, मुक्तागिरी, कुंडलपुर आदि अनेक तीर्थो की यात्रा की. संतशिरोमणी आचार्यश्री विद्यासागरजी गुरुदेव को खापरखेडा स्थित निवास मे आहारचर्या संपन्न कराने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. हलबा समाज की श्रीमती भास्कर जैन धर्म के व्रत, नियमों का पालन करती है. णमोकार मंत्र के अनेक मंत्र, स्तोत्र रोज पठन करती है.

उनके समर्पित श्रद्धा और भक्ति के लिये धनलक्ष्मी बचत गट की ओर से नमिता रमेश उदेपुरकर, संगीता राजेन्द्र उबाले ने शाल, श्रीफल, पुष्पगुच्छ, माला, सन्मानचिन्ह, मानपत्र देकर श्रीमती हीराबाई भास्कर का सत्कार किया. कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजसेवी संजय जैन बोबडे ने की. कार्यक्रम मे प्रमुखता से जैन सहायता ट्रस्ट के महामंत्री आनंदराव सवाने, वास्तुशिल्पकार नारायणराव पलसापुरे, चंद्रकांत पलसापुरे उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन राजेन्द्र उबाले, आभार रोहन उबाले ने माना.