Published On : Mon, Jun 24th, 2019

रविवार को नागपुर में जमकर बरसे मेघ

नागपुर: रविवार को नागपुर जिले के आसमान को बादलों ने पूरी तरह ढंक लिया और सब तरफ रिमझिम शुरू हो गई. नागपुर शहर के उत्तर में सावनेर, खापरखेड़ा, रामटेक, देवलापार आदि क्षेत्र में करीब एक घंटे तक तेज वर्षा हुई तो जिले के पूर्वी हिस्से में मौदा, उमरेड क्षेत्र में हल्की वर्षा हुई. शहर के दक्षिण में बूटीबोरी व हिंगना के इलाकों में भी हल्की वर्षा हुई जबकि जिले के पश्चिमी भाग काटोल और नरखेड़ क्षेत्र में बहुत हल्की वर्षा व बूंदाबांदी देखी गई.

रविवार को दोपहर बाद जब बौछारों ने जमीन पर टपकना शुरू किया तो बुवाई के इंतजार में आसमान पर नजरें गड़ाए बैठे किसानों ने रविवार को कुछ राहत की सांस ली. जिले भर से प्राप्त जानकारी के अनुसार सावनेर, रामटेक, देवलापार, कामठी, कन्हान इलाके में दोपहर के बाद हल्की आंधी के बाद करीब डेढ़ से दो घंटे तक तेज व मध्यम वर्षा हुई. खापरखेड़ा, पारशिवनी में हल्की वर्षा व कहीं-कहीं बूंदाबांदी हुई. मौदा तहसील के क्षेत्र में आधे घंटे वर्षा हुई जबकि उमरेड, भिवापुर, कुही में हल्की वर्षा व बूंदाबांदी ही हुई. बूटीबोरी में आधे घंटे तक तेज वर्षा हुई जिससे मौसम खुशगवार हो गया.

हिंगना क्षेत्र में दोपहर 3 बजे के बाद हल्की वर्षा हुई. कन्हान-कामठी क्षेत्र में गरज-चमक के बीच दो घंटे तक मध्यम व तेज बारिश हुई. वाड़ी इलाके में काले बादल छाए लेकिन वर्षा हल्की बूंदाबांदी के रूप में हुई जिससे मौसम सुहावना हो गया. कलमेश्वर में दोपहर 3 से 5 बजे तक मध्यम वर्षा दर्ज की गई. काटोल में दोपहर 3.30 बजे से हल्की रिमझिम वर्षा हुई.

उल्लेखनीय है कि नागपुर जिला पिछले पांच-छह महीनों से भारी जलसंकट से जूझ रहा है. पिछले वर्ष फसलों की पैदावार संतोषजनक नहीं होने से आगामी फसल को लेकर आशाएं आसमान पर टिकी हुई हैं. पहली मानसून बारिश से किसानों को उम्मीद बंधी है कि आगे अच्छी बरसात होगी. जिले भर में किसानों को अच्छी बरसात का इंतजार है. किसान अपनी जमीनें तैयार कर बैठे हैं. अनुभव के आधार पर किसान जमीन में भरपूर नमी आने का इंतजार कर रहे हैं.