Published On : Sun, Apr 18th, 2021

पालकमंत्री ने किया शालिनीताई मेघे अस्पताल का निरीक्षण

नागपुर: रविवार को पालकमंत्री डॉ नितिन राउत और विभागीय आयुक्त डॉ संजीव कुमार ने शालिनीताई मेघे अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र वानाडोंगरी में जाकर अस्तपाल प्रशासन से मुलाकात की और मरीज़ों के लिए उपलब्ध व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया. इस दौरान अधिष्ठाता डॉ दिलीप गोडे ने पालकमंत्री को अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीज़ों और यहाँ उपलब्ध व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी.

350 बेड क्षमता के इस अस्पताल में 322 कोविड मरीज़ों का इलाज हो रहा है. इनमें से 120 मरीज़ों के इलाज में रेमडिसिवर का इस्तेमाल किया जा रहा है. अस्पताल में ऑक्सिजन की व्यवस्था के बारे में भी उन्होंने जानकारी दी. डॉ गोडे ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में मरनेवालों की संख्या बहुत अधिक है. टास्कफोर्स द्वारा दिए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए रेमडिसिवर का उपयोग किया जा रहा है.

इस दौरान पालकमंत्री को अतिरिक्त ऑक्सिजन की ज़रुरत के बारे में भी अवगत कराया गया. इस अस्पताल में 22 मार्च से लेकर अब तक 66 मौतें दर्ज हुई हैं. पालकमंत्री डॉ नितिन राउत ने कहा कि ज़रुरत पड़ने पर अस्पताल प्रशासन के सदस्य स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन से संपर्क कर मदद मांग सकते हैं.