Published On : Fri, Feb 27th, 2015

अमरावती : बिजली दर वृध्दि से टूटेगी उद्योगों की कमर


उद्योजकों का एसी को निवेदन

Bijali Nivedan
अमरावती। विदर्भ जैसे औद्योगीक रुप से पिछड़े क्षेत्रों में प्रस्तावित 30 से 35 फीसदी बिजली दर वृध्दि का कड़ा विरोध करते हुये एमआयडीसी संगठनों ने शुक्रवार को एक साथ विद्युत भवन पहुंचकर अधीक्षक अभियंता दिलीप घुगल को उद्योजकों के संताप से अवगत कराया. स्पष्ट कहा कि इस दर वृध्दि से उद्योगों की कमर टूट जाएंगी. जिससे तत्काल बिजली दर वृध्दि का प्रस्ताव रद्द किया जाए. साथ ही यंत्रमाग व खेती उत्पादक रोजगारक्षम क्षेत्र की दरें भी अन्य राज्यों की तरह समान रखे. 300 यूनिट के भीतर सामान्य घरेलू बिजली ग्राहकों को सहुलियत की बिजली दर स्थिर रखी जाएं.

नहीं जलाई होली
हालांकि एमआयडीसी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने बुधवार की शाम जारी बयान में विद्युत भवन में बिजली बिलों की होली जलाने का एलान किया था, लेकिन ऐन वक्त पर नेतृत्व के अभाव में यह आंदोलन नहीं हो सका. केवल अधीक्षक अभियंता को निवेदन देकर उद्योजकों ने दरवृध्दि का विरोध किया. इस प्रतिनिधि मंडल में वीरेंद्र लढ्ढा, किशोर नालमवार, नितिन मोहोड, विजय मोहता, ओम भंडारी समेत अन्य 15-20 उद्योजक सहभागी हुये.