Published On : Sun, Dec 1st, 2019

नागपुर में भव्य सायंस लेबोरेटरी कम ट्रेनिंग सेंटर – गडकरी

अपूर्व विज्ञान मेला में चौथे दिन उमड़ी भीड़

वरिष्ठ विज्ञान प्रसारकों का सत्कार

आज अंतिम दिन

नागपुर: केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि नागपुर में जल्द ही भव्य विज्ञान प्रशिक्षण व प्रशिक्षण केंद्र का निर्माण शुरू होगा। इसके लिए स्थान निर्धारण का काम जारी है। असोसिएशन फॉर रिसर्च एंड ट्रेनिंग इन बेसिक सायंस एजुकेशन और नागपुर महानगर पालिका के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित अपूर्व विज्ञान मेला में श्री गडकरी बोल रहे थे। गडकरी ने कहा कि वो हर वर्ष इस विज्ञान मेले को भेंट देते हैं। अपूर्व विज्ञान मेले के अभिनव प्रयोग के बाद अब उनकी इच्छा नागपुर में एक ऐसा विज्ञान केंद्र बनाने की है जहां विद्यार्थियों को भव्य प्रयोगशाला और प्रशिक्षण की सुविधा मिल सके। इससे मनपा शाला के बच्चों को ज्यादा बेहतर प्लेटफार्म मिलेगा।

इसके पूर्व असोसिएशन के सचिव सुरेश अग्रवाल ने पुष्पगुच्छ देकर गडकरी का स्वागत किया। इस अवसर पर देश के दो वरिष्ठ विज्ञान प्रसारकों ओ.पी. गुप्ता (इलाहाबाद) और वी.वी.एस. शास्त्री (बंगलुरू) का शाल, पुष्पगुच्छ देकर गडकरी ने स्वागत किया। गडकरी कहा कि वर्षों से विज्ञान का प्रचार-प्रसार करने वाले इन विद्वानों का सत्कार करना गर्व का क्षण होता है। अग्रवाल ने सत्कारमूर्तियों का परिचय दिया। प्रमुख रूप से एआरटीबीएसई के अध्यक्ष रघु ठाकुर, मनपा के अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी, शिक्षणाधिकारी प्रीति मिश्रीकोटकर, शिक्षण सभापति दिलीप दिवे, उपसभापति प्रमोद तभाने, विनय बगले, मनपा कर्मचारी बैंक के निदेशक राजू कनाटे उपस्थित थे।

चौथे दिन विज्ञान मेला में विद्यार्थियों, पालकों और शिक्षकों की भारी भीड़ उमड़ी। विज्ञान विषय को रोचक बनाने के इस अभियान की लोकप्रियता का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि छत्तीसगढ़ के साथ ही नागपुर शहर व ग्रामीण के दर्जन भर स्कूलों के बच्चों के अलावा बड़ी संख्या में पालक भी बच्चों के साथ पहुंचे। रविवार को प्रदर्शनी का अंतिम दिन है। एआरटीबीएसई के सचिव सुरेश अग्रवाल ने विज्ञान प्रेमियों से प्रदर्शन का लाभ लेने की अपील की है।

आज अंतिम दिन
रविवार को प्रदर्शनी का अंतिम दिन है। राष्ट्रभाषा परिवार द्वारा विज्ञान संबंधी पथनाट्य का प्रदर्शन किया जाएगा। विज्ञान मेला सुबह 11 से शाम 4 बजे तक राष्ट्रभाषा भवन परिसर (उत्तर अंबाझिरी मार्ग, आंध्र एसोसिएशन भवन के बगल में) में विद्यार्थियों, शिक्षकों और विज्ञान प्रेमियों के लिए शुरू रहेगा। प्रवेश निःशुल्क है।