| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, May 9th, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    शासन जीवनश्यक वस्तुओ की दुकानों के बारे में स्पष्ट नीति घोषित करें- मोटवानी।

    नागपुर: लॉक डाउन में मनपा और जिलाधीश कार्यालय और पुलिस प्रशासन द्वारा स्पष्ट नीति नही होने से व्यापारी भ्रमित हो रहा है।।दि होलसेल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट अस्सो के सचिव प्रताप मोटवानी के अनुसार वर्तमान परिस्थिति में जीवनश्यक वस्तुओ का व्यापार करने वाले व्यापारी अपनी जान जोखिम डाल कर अपने दुकानों में आकर माल के सप्लाई की चेन नियमित बनी रहे और कोरोना महामारी के बीच मानवता की सेवा करते हुए आम जनता को माल सुगमता से सप्लाई कर रहा है।।लेकिन उनके इस जज्बे को कोई सराहता नही और कुछ लोग बदनाम करते है।

    मोटवानी ने कहा कि शासन के कहने पर वह अपनी दुकानें खोल कर देश सेवा में हाथ बटा रहे है।।एक तरफ महाराष्ट्र सरकार जीवनश्यक वस्तुओ को अपनी दुकानें 24 घंटे खोलने की अनुमति दे रही है।और दूसरी तरह लोकल प्रशासन जोर जबरदस्ती से दुकाने बन्द करवा रहा है।।मोटवानी ने बताया शनिवार को इतवारी में जबरदस्ती पोलिस के द्वारा तेल किराना अनाज के मार्किट बंद करवाये गए।

    उन्हें बताया गया कि यह मार्किट प्रतिबंधित क्षेत्र में नही है।इस संदर्भ में लकडगंज के पी आई श्री नरेंद्र हिवरे जी से बात होने पर उन्होंने बताया कि आपका मार्किट प्रतिबंधित क्षेत्र में नही है और आप मार्किट खोल सकते हो।।उसके बावजूद वहाँ पुलिस के द्वारा ज़बरन कारवाही करने, चालान काटने का भय, देकर जबरन अनाज इतवारी के तीनों प्रमुख होलसेल तेल किराना अनाज की दुकानें बन्द करवा दी। ऐसी स्थिति में व्यापारी क्या करे।।मोटवानी ने कहा कि हमारे व्यापारी दुकाने शासन के निर्णय के कारण खोल रहे है। क्यो की जीवनश्यक वस्तुओ की दुकान आवश्यक वस्तु अधिनियम के अंतर्गत आती है।।।और व्यापारी इस समय सबसे ज्यादा दुकान खोलने पर कोरोना के खतरे के पास है।।लेकिन जिस तरह डॉक्टर , पुलिस, सफाई कर्मचारी, और शासन के अधिकारी जान की परवाह किये बिना अपना कर्तव्य निभा रहे है वैसे ही व्यापारी भी इसमें अपना योगदान दे रहे है।

    अधिकतम व्यापारी कमाने के उद्देश्य से दुकाने नही खोल रहे है।।ऐसी विकट परिस्थिति में अपना कर्तव्य निभाते हुए सेवाभाव से कार्य कर रहे है। सरकार या प्रशासन हम व्यापारियों को भ्रमित करने की बजाय स्पष्ट बताये हम सभी दुकाने बन्द करने को तैयार है।पर वैसे स्पष्ट निर्देश हमें दे।।मोटवानी ने कहा कि देश के मशहूर उद्योगपति श्री रतन टाटा का यह व्यक्तव्य बेहद ही महत्वपूर्ण है कि वर्ष 2020 अपनी कोरोना बीमारी से अपनी जान बचा कर रखने का है।धंधा और कमाने के बजाय।।अतः ऐसी स्थिति में व्यापारी दुकान बंद रखने को तैयार है।पर सरकार हमे अनुमति दे।।कल अगर दुकाने बन्द रखने से जीवनश्यक वस्तुओ का अभाव या पूर्ति करने वाली चेन टूट जाती है तो व्यापारी उसके लिए जिम्मेदार नही होंगे।।और अगर प्रशासन व्यापारियों को जबरदस्ती दुकाने बन्द करवाएगी तो मजबूरन सभी व्यापारी अपनी दुकाने बन्द कर देंगे।क्यो की शासन कोई भी स्पष्ट निर्देश नही दे रहा है।

    मोटवानी के अनुसार इतवारी क्षेत्र में होलसेल मार्किट आते है।और वहाँ शासन अगर समय तय भी करना चाहे तो सबेरे 7 से दोपहर 1 की बजाय सबेरे 11 से शाम 5 तक समय तय करे।।इसमें सही ढंग से आम जनता और चिल्लर व्यापारियो को सुविधा जनक होंगा।।सबेरे लेबर, मुनीम गुमास्ता, और माल लाने और शहर में माल सप्लाय करने वाले ऑटो या सवारी नही मिलती।

    जिससे यह समय उपयुक्त नही है।।उपरोक्त समय के अनुसार ही सभी को सुविधाजनक होंगा।(11 से 5 तक) .
    मोटवानी ने शासन से निवेदन किया है कि जो भी निर्देश दिए जाते है वह स्पष्ट होना चाहिए भ्रमित करने वाले नही।और उन निर्देश का सही ढंग से पालन होना चाहिए।। रविवार सभी होलसेल मार्किट बन्द रहते है और सोमवार को शासन हमे स्पष्ट निर्देश दे कि हम व्यापारियो को मार्किट खोलना है या नही और खोलना है तो सभी की सुविधजनक समय पर खोलने की अनुमति दे।।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145