Published On : Wed, Apr 5th, 2017

पर्यावरण बचाओं का संदेश देते हुए निकली उत्तर नागपुर में निकली भव्य शोभायात्रा

Nagpur: प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी उत्तर नागपुर क्षेत्र से चैत्र नवरात्र व रामनवमी निमित्त ३०८ वर्ष प्राचीन श्री शिव मंदिर, बेलीशॉप रेलवे कॉलोनी से भव्य रामजन्मोत्सव शोभायात्रा पर्यावरण बचाने का संदेश देते हुए निकाली गयी| शोभायात्रा का आयोजन श्री शिव मंदिर ट्रस्ट व शोभायात्रा उत्सव कमेटी के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा हैं| शोभायात्रा की शुरूवात में राम, जानकी, लक्ष्मण व हनुमानजी की अभिषेक प्रतिमा का अभिषेक व पूजना किया गया| मंदिर में डेढ़ फिट ऊंची अष्ठधातू की प्रतिमाएं है| अतिथियों द्वारा पूजन के पश्‍चात रामजी के विग्रह को राम रथ पर रखा गया| जहां सभी अतिथियों ने पूजन व आरती की| शोभायात्रा का उद्घाटन उत्तर नागपुर विधानसभा के विधायक डॉ. मिलिंद माने व नरकेसरी प्रकाशन के अध्यक्ष व प्रसिद्ध होमियोपैथी तज्ञ डॉ. विलास डांगरे के हाथों किया गया. इस असवर पर इस अवसर पर प्रमुख अतिथि राज्य के पूर्व जलसंसाधन व पालकमंत्री डॉ नितिन राऊत, प्रसिद्ध बालरोग विशेषज्ञ डॉ. उदय बोधनकर, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के वरि. मंडल अभियंता (दक्षिण) सत्यनारायणा, नगरसेवक संदीप सहारे, पूर्व नगरसेवक व गुरूनानक इंजीनियरिंग कालेज के अध्यक्ष सरदार नवनीतसिंग तुली, द.पू.म. रेलवे के आयओडब्ल्यू पांडेजी, प्रसिद्ध व्यवसायी जुगलकिशोर शाहु, एड. धमगाये, पत्रकार अणेकर, विरेंद्र झा, डा. प्रवीण डबली, पी. सत्याराव, शरद शर्मा, पं. कृष्णमुरली पांडे, हरिदास, सामाजिक कार्यकर्ता नारायणराव चिचोने, संजीव कुमार, राजेंद्र गणवीर रहेंगें. यह शोभायात्रा निकलने का १५वां वर्ष था.

शोभायात्रा में छोटे छोटे बच्चों ने सजीव झांकिया बनाई| जिसमें शंकरजी-पार्वतीजी का रूप लेकर झांकी बनाई गयी| राम लक्ष्मण सीता की संजीव झांकी बनाई गयी. पूरी शोभायात्रा में बाल हनुमान के रूप में कई छोटे छोटे बच्चे चल रहे थे. साथ साईबाबा का रूप लिए हुएं बच्चों ने साईबाबा की संजीव झाकी प्रस्तुत की| कलश धारी कन्याएं व महिलाएं एक कतार में चल रही थी. शोभायात्रा में इस वर्ष रामजी का रथ आकर्षण का केंद्र था, रथ ङ्गूलों से सजा गया था. छोटी बालिकाएं गरबा नृत्य व लेझीम करती हुई साथ चल रही थी. बैंड व ढोल भी साथ में समा बांध रहे थे.साथ ही भजन मंडली की विभिन्न टोलियां चल रही थी. विभिन्न संस्थाओं ने मार्गां पर आकर्षक स्वागत द्वारा लगाये थे. महिलाओं द्वारा पूरे मार्ग पर शोभायात्रा के स्वागत हेतु मार्ग को रंगोलियों से सजाया गया| मार्ग में अनेक स्थानों पर चाय, कॉङ्गी, ङ्गल, छाछ की व्यवस्था की गयी. शोभायात्रा की समाप्ती पर शिव मंदिर में छाछ व शरबत की व्यवस्था की गयी. पूरे मार्ग को तोरण से सजाया गया था.इस कार्यक्रम को सङ्गल बनाने हेतु प्राचीन श्री शिव मंदिर व रामजन्म उत्सव समिति के सभी पदाधिकारी व युवा कार्यकर्ताओं सहित क्षेत्र के नागरिकों ने अथक प्रयास किए.

महाप्रसाद आज
५ अप्रैल को प्रात ८.०० बजे पूजन होगा. ९.३० बजे से १ बजे तक मनोकामना अखंड ज्योत सहित मुख्य घटविसर्जन होगा तथा शाम ६ बजे राम-जानकी विवाह के अवसर पर ६.३० बजे नागमंदिर बेलिशाप से रामजी की बारात बडी धूमधाम से निकाली जाएगी एवं ७ बजे राम-जानकी विवाह होगा तत्पश्‍चात पटाभिषेक व महाप्रसाद होगा. ११ अप्रैल को हनुमान जयंती के अवसर पर सुबह ६.०० बजे हनुमानजी का अभिषेक तथा १० बजे से सुंदरकांड का सामुहिक पाठ होगा.

सूर्यकिरणों का शिवजी को अभिषेक देखने उमंड रही है भीड़
चैत्र नवरात्र के दौरान सूर्य की किरणें सीधे शिवलिंग पर पड़ती है. यह अद्भूत नजारा देखने लोगों की भीड़ उमड़ रही है.साथ ही राम नवमी के अवसर पर भी सूर्य किरणों ने रामजी के चरणों को स्पर्श किया व मुख मंडल पर अपनी किरणों का प्रकाश प्रसारित किया यह नजारा नयणरम्य था.